एसआईटी 109 शिक्षकों के अभिलेखों की कर रही जाँच

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही (ब्यूरो)

गाजीपुर । शासन के निर्देश पर जिले के प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय के शिक्षकों के दस्तावेजों का सत्यापन कराया जा रहा है। इसमें सात हजार 157 शिक्षक के अभिलेखों की जांच की जाएगी। वहीं इसमें अलग-अलग विश्वविद्यालयों से बीएड, बीए पास किए शिक्षकों के अभिलेखों की जांच एसआईटी व जनपदीय समिति के द्वारा की जा रही है। सूत्रों की अनुसार इसमें सर्वाधिक शिक्षकों के पैनकार्ड और निवास प्रमाण पत्र डुप्लीकेट लगे है। अबतक रिकार्ड में नाम, पता, अधार व खाता संख्या समेत तमाम गड़बड़ियां मिलने पर नौ शिक्षकों का वेतन रोक दिया गया है। वहीं लगभग सभी शिक्षकों के दस्तावेजो का सत्यापन कराया जा रहा है।
बीएसए द्वारा शिक्षकों के शैक्षिक प्रमाण पत्रों की सत्यापन कराने के लिए अलग से कमेटी गठित कर जांच बैठा दी गई है। वहीं अबतक नौ शिक्षकों के दस्तावेजों में खामियां मिलने पर कार्रवाई करते हुए बर्खास्त किया जा चुका है। वहीं इन्हें मिला वेतन की रिकवरी की जा रही है।
जनपद में 2755 परिषदीय विद्यालयों में सात हजार 157 शिक्षक कार्यरत है। इसमें फर्जी शैक्षिक प्रमाण पत्र के सहारे नौकरी हथियाने वाले शिक्षक विभागीय अधिकारियों व कार्यालयों के चक्कर लगाना शुरू कर दिए है। शासन के निर्देश पर सम्पूर्णानंद विश्वविद्यालय के शैक्षिक प्रमाण पत्रों की जांच एसआईटी से कराई जा रहीं है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!