कुपोषण से जंग : सीडीओ ने हरी झंडी दिखाकर किया राष्ट्रीय पोषण माह का शुभारंभ

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज राष्ट्रीय पोषण माह का शुभारम्भ मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 अमित पाल शर्मा ने हरी झण्डी दिखाकर किया। मुख्य विकास अधिकारी ने बाल विकास, पंचायती राज, कृषि विभाग, स्वयं सहायता समूह, बेसिक शिक्षा विभाग को बेहतर सम्मवन्य के साथ तृतीय पोषण माह के त्यौहार के रूप में मनाये जाने के निर्देश दिया।

इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि “इस पोषण माह का मुख्य दो थीम है पहला ‘सैम एवं मैम बच्चों का चिन्हांकन एवं संदर्भन’ तथा दूसरा ‘पोषण वाटिका-वृक्षारोपण’ जनपद के सभी प्राथमिक विद्यालयों में किचेन गार्डन इस माह में लगाये जाने है। जिसमें ग्राम प्रधान, शिक्षक, आंगनबाड़ी एवं स्वयं सहायता समूह की महिलाओं की महत्वूपर्ण भूमिका है। पोषण वाटिका में मुख्य रूप से किनारे-किनारे सहजन, अमरूद, आँवला, पपीता के वृक्ष लगाये जाये तथा लौकी, कोहडाँ, बैगन, करैला, खीरा इत्यादि मौसमी सब्जियों को लगाया जायेगा। किचेन गार्डेन में उत्पादन होने सब्जियों एवं फलो को स्कूल एवं आंगनबाड़ी केन्द्र के बच्चों को एम0डी0एम0 के माध्यम से उपलब्ध कराये जायेगी। जिससे बच्चो में पोषक तत्व की कमी को दूर करते हुए बच्चो को कुपोषण मुक्त किया जा सके।”

मौके पर उपस्थित जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत कुमार सिंह ने बताया कि “तृतीय पोषण माह को विभिन्न विभागों से कन्वर्जेन्स करते हुए शत प्रतिशत 0 से 5 वर्ष के बच्चों का वजन एवं लम्बाई ली जायेगी तथा सैम एवं मैम बच्चो का चिन्हांकन कर सी0एच0सी0 एवं पी0एच0सी0 पर स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से स्वास्थ्य जाँच कराया जायेगा । आवश्यकतानुसार कुपोषित बच्चों को 102 एवं 108 एबुलेंस से एन0आर0सी0 जिला अस्पताल लोढी में भर्ती कराया जायेगा साथ ही किचेन गार्डेन के माध्यम एवं समुदाय के सहयोग से कम वजन के 0 से 5 वर्ष के बच्चों को अंडरवेट की श्रेणी से बाहर निकाला जायेगा। ग्रामवासियों एवं ग्राम प्रधान से अपील है कि स्कूलो में पोषण वाटिका बनाने में एवं उसको सुरक्षित रखने में सहयोग करें तथा अपने-अपने गाँव के 0 से 5 वर्ष के शतप्रतिशत बच्चों का वजन एवं लम्बाई आंगनबाड़ी केन्द्र पर करायें। जिलाधिकारी के आदेश एवं निर्देश के क्रम में जनपद स्तर पर उपलब्ध स्थानीय नीधि से सभी आंगनबाड़ी केन्द्र पर ग्रोथ मानीटरिंग डिवाइस (वयस्क एवं बेबी वजन मशीन, इन्फैन्टो मीटर तथा स्टेडियो मीटर) उपलब्ध कराया जा चुका है। अतः तृतीय पोषण माह में सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों टीकाकरण वाले दिन शत प्रतिशत 0 से 5 वर्ष के बच्चो एवं गर्भवती महिलाओं का वजन लेकर पंजिका एवं आई0सी0डी0एस0 कैस साफ्टवेयर पर अवश्य दर्ज करें। पोषण माह को जन आंदोलन का रूप देते हुए कुपोषण को दूर किया जायेगा।”

इस मौके पर जिला विकास अधिकारी राम बाबू त्रिपाठी, बाल विकास परियोजना अधिकारी शहर रेनू वर्मा, डी0टी0एम0 अक्षय शर्मा , पिरामल फांउडेशन एवं डी0एन0एस0 बुद्ध कुमार यू0पी0टी0एस0यू0 उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!