लखीमपुर खीरी में तीन बार विधायक रहे निर्वेंद्र मिश्रा की संदिग्ध परिस्थिति में मौत, कांग्रेस ने कहा हत्या के लिए जिम्मेदार कौन

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर के पूर्व विधायक निर्वेंद्र मिश्रा की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गयी । मौत की खबर लगते ही प्रशासनिक अमले में हड़कम्प मच गया । पुलिस इसे अभी हत्या नहीं मान रही, पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा । हालांकि पूर्व विधायक निर्वेंद्र मिश्रा के मौत को यूपी कांग्रेस ने हत्या करार देते हुए प्रदेश की योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि यूपी का जंगलराज भयावह हो रहा है । योगी सरकार सो रही है।

पुलिस ने जानकारी दी कि दो बार निर्दल व एक बार सपा से विधायक रहे निर्वेंद्र मिश्रा उर्फ मुन्ना (उम्र 75 वर्ष) पुत्र राज बहादुर निवासी ग्राम त्रिकोलिया पढुआ थाना सम्पूर्णानगर का विपक्षी समीर गुप्ता पुत्र किशनलाल गुप्ता व राधे श्याम गुप्ता पुत्र किशनलाल गुप्ता निवासीगण मोहल्ला दरगाह पलिया थाना पलिया जनपद खीरी के बीच ग्राम त्रिकोलिया पढुआ में जमीनी विवाद चल रहा था ।

आज रविवार को विपक्षी राधेश्याम गुप्ता अपने अन्य साथियों के साथ उक्त विवादित जमीन को जोतने गए थे, जहाँ पर पूर्व विधायक निर्वेंद्र उर्फ मुन्ना अपने समर्थकों के साथ वहां मौजूद थे । जहां दोनो पक्षों में हल्की नोकझोक व धक्का-मुक्की हुई। इस दौरान पूर्व विधायक निरवेन्द्र मिश्रा उर्फ मुन्ना की तबियत खराब हो गयी, जिन्हे उपचार हेतु पलिया स्थित डॉ कपूर के यहां लाया गया । जहां डॉक्टर ने उन्हे मृत घोषित कर दिया तथा डॉक्टर द्वारा प्रथम दृष्टया मृत्यु हार्ट अटैक से होना बताया । पुलिस द्वारा शव को कब्जे में लेकर पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम हेतु भेजा जा रहा है ।

आपको बतादें कि पिछले कुछ महीनों में उत्तर प्रदेश में अपराध की घटनाएं तेजी से बढ़ी हैं । लूटपाट और कत्ल की बढ़ती वारदातों को लेकर राज्य की विपक्षी दल योगी सरकार पर लगातार हमला बोल रहे हैं । अब लखीमपुर के पूर्व विधायक निर्वेंद्र मिश्रा की मौत पर कांग्रेस ने योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा है ।

कांग्रेस ने कहा कि लखीमपुर में पूर्व विधायक निर्वेंद्र मिश्रा की हत्या कर दी गई । यूपी का जंगलराज भयावह हो रहा है । योगी सरकार सो रही है।

उत्तर प्रदेश की कांग्रेस ईकाई ने एक और ट्वीट करते हुए कहा कि यूपी में गृह विभाग का जिम्मेदार कौन है? लखीमपुर में पूर्व विधायक की हत्या हो गई । 22 दिनों में रेप और हत्या की चार घटनाएं हो गईं । कौन सी घुट्टी लेकर सो रहा है गृह विभाग कि ये जंगलराज दिख ही नहीं रहा है?


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!