शिखर सम्मेलन में बोले पीएम मोदी- कोरोना महामारी ने कई चीजों को प्रभावित किया, लेकिन भारत के लोगों की आकांक्षाओं को प्रभावित नहीं कर सका

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भारत-अमेरिका संबंधों पर एक शिखर सम्मेलन को संबोधित किया । पीएम मोदी का ये संबोधन यूएस-इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप फोरम( USISPF) में रहा । यूएस-इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप फोरम (USISP) एक गैर-लाभकारी संगठन है, जो भारत और अमेरिका की साझेदारी के लिए काम करता है। अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कोरोना काल में भी भारत की बढ़ती ताकत के बारे में बताया । पीएम मोदी ने कहा कि किसी ने नहीं सोचा था कि कोरोना महामारी आएगी । इसने हर किसी को प्रभावित किया, लेकिन भारत के लोगों की आकांक्षाओं को प्रभावित नहीं कर सका ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में भारत ने कोरोना के अलावा 2-2 चक्रवात, बाढ़ और टिड्डियों का हमला भी झेला है । आज भारत में 80 करोड़ लोगों को फ्री में अनाज दिया जा रहा है। फ्री कुकिंग गैस 80 मिलियन लोगों को दी जा रही है ।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत में कोरोना की रिकवरी रेट भी लगातार तेजी से बढ़ रही है । हमारी बिजनस कम्युनिटी भी अच्छा काम कर रही है । हम अभी दुनिया के दूसरे सबसे बड़े पीपीई किट निर्माता हैं । जनवरी में हमारे पास कोरोना की 1 टेस्टिंग लैब थी, अभी देशभर में 1600 टेस्टिंग लैब हैं । हमारे यहां कोरोना डेथ रेट दुनियाभर के मुकाबले काफी कम है ।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी ने कई चीजों को प्रभावित किया है, लेकिन भारत के लोगों की आकांक्षाओं को यह प्रभावित नहीं कर सका है । भारत में हालिया महीनों में काफी सारे सुधार हुए हैं । विश्व के सबसे बड़ें हाउसिंग प्रोग्राम पर काम जारी है। रेल, सड़क और एयर कनेक्टिविटी को बढ़ाया जा रहा है। इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में काफी काम हो रहा है । हम बेहतरीन वित्तीय तकनीक का इस्तेमाल लोगों तक बैंकिंग, क्रेडिट, डिजिटल पेमेंट और इंश्योरेंस की सुविधा पहुंचाने के लिए कर रहे हैं। हमारा टैक्स सिस्टम पारदर्शी है ।

पीएम मोदी ने कहा कि 130 करोड़ भारतीय आत्मनिर्भर भारत के मिशन में जुटे हैं ।आत्मनिर्भर भारत का उद्देश्य भारत को ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग हब के रूप में विकसित करना है। आगे का रास्ता पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर में अवसरों से भरा पड़ा है । इसमें कोर इकोनॉमिक सेक्टर और सोशल सेक्टर भी शामिल है ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हाल ही में रेलवे, डिफेंस, स्पेस और अटॉमिक एनर्जी के क्षेत्र को खोला गया है । हमारे लेबर रिफॉर्म्स एम्प्लयॉर के ऊपर से कंप्लायंस का बोझ हटाएंगे और कर्मचारियों को सोशल सिक्यॉरिटी की सुविधा भी देंगे। साल 2019 में भारत में FDI 20 फीसदी बढ़ा, ऐसा ऐसे वक्त में हुआ जब दुनिया में इसमें फीसदी की गिरावट देखी गई है । यह हमारी FDI स्कीम की सफलता को दिखाता है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!