डीएम के आकस्मिक निरीक्षण में गायब मिले कर्मचारी, दिया कार्यवाही का निर्देश

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने बुधवार को पूर्वान्ह 10.30 बजे उरमौरा में स्थित जिला बेसिक शिक्षा कार्यालय का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने जिला बेसिक शिक्षा कार्यालय में पटल सहायक सीमा श्रीवास्तव, देवेश नारायण शुक्ला व तौफिक अली को गैर हाजिर पाया। इसी प्रकार से कार्यालय लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा में मात्र एक राम सेवक को गैर हाजिर पाया। जिलाधिकारी ने गैर हाजिर कार्मिकों का जवाब-तलब करते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी व लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा को लापरवाह कार्मिकों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिया।

जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने कार्यालय के निरीक्षण के दौरान पाया कि जिला बेसिक शिक्षा कार्यालय में निरीक्षण गार्ड फाईल नहीं है, जिस पर उन्होंने दायित्वबोध कराते हुए निरीक्षण गार्ड फाईल को तैयार करने के निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने यह भी पाया कि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के मूल कार्यालय में अधिष्ठान की पत्रावली नहीं है, यह कार्य मूल बेसिक शिक्षा कार्यालय के बजाय, बेसिक शिक्षा कार्यालय सर्व शिक्षा अभियान राबर्ट्सगंज बाजार में स्थित कार्यालय में किया जाता है। जिलाधिकारी ने आपत्ति जताते हुए मूल कार्यालय से अधिष्ठान के कार्य का कार्य कराने का निर्देश जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को दिया। जिलाधिकारी ने निलम्बन व विभागीय जॉच के लम्बित प्रकरणों के निस्तारण रिपोर्ट तलब किया और जल्द से जल्द पूर्व में किये गये निरीक्षणों में दिये गये निर्देशों का अनुपालन करने की हिदायत दी। जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा विभाग की कार्यगुजारी सम्बन्धी पत्र शासन को भेजने के निर्देश देते हुए कहा कि पूर्व में प्राथमिक विद्यालय सहिजन खूर्द व इंगलिश मीडियम मुसही के निरीक्षण में दिये गये निर्देशों का तत्काल अनुपालन सुनिश्चित किया जाय।

उन्होंने स्कूली बच्चों के ड्रेस, जूता, मोजा, स्वेटर के सम्बन्ध में समय से पत्रावली प्रचलित कराकर समयबद्ध तरीके से बच्चों को सामानों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि टेण्डर के शर्तों का पालन न करने वालों को नोटिस जारी की जाय और जरूरत पड़ने पर लापरवाह ठेकेदार/एजेन्सी का अनुबन्ध निरस्त करने की भी कार्यवाही की जाय। उन्होंने कहा कि स्कूल कायाकल्प के सम्बन्ध में मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में गठित कमेटी जिसमें जिला पंचायत राज अधिकारी व बीएसए भी सदस्य के रूप में हैं। कायाकल्प के प्रकरणों का निस्तारण समयबद्ध तरीके से किया जाय। उन्होंने कहा कि जिले के शिक्षा मित्रों व अनुदेशकों के मानदेयों का भुगतान समयबद्ध तरीके से करते हुए देनदारियों को लम्बित न रखा जाय।

जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी का मूल कार्यालय जर्जर पाये जाने पर नये कार्यालय भवन बनाने के लिए स्टीमेट सक्षम स्तर पर भेजने के निर्देश सम्बन्धितों को दिया।
बेसिक शिक्षा कार्यालय के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम के अलावा जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ0 गोरखनाथ पटेल, लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा विभाग मनीष कुमार शुक्ला सहित अन्य सम्बन्धितगण मौजूद रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!