खबर का असर : 8 आंगनबाड़ी कार्यकर्तिओं की सेवा समाप्त

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

● पोषाहार वितरण में अनियमितता तथा कालाबाजारी मामले पर जिलाधिकारी ने की बड़ी कार्यवाही

● बनौरा की आँगनबाड़ी समेत कुल 8 आँगनबाड़ी कार्यकर्तियों को किया सेवा से बर्खास्त

● पोषाहार कालाबाजारी की जनपद न्यूज Live ने सबसे पहले दिखाई थी खबर

● जिलाधिकारी ने खबर का संज्ञान लेते हुए की बड़ी कार्यवाही

सोनभद्र । जहां एक तरफ लॉक डाउन में जिला प्रशासन बेहतर काम करके सूबे में एक बेहतर छवि कायम की है वहीं कुछ विभाग के कर्मचारी लॉक डाउन में भी न सिर्फ विभाग की बल्कि जनपद के साख पर बट्टा लगा रहे हैं।

पन्नूगंज थाना क्षेत्र के बनौरा प्रथम में आंगनबाड़ी कार्यकर्ती द्वारा बच्चों को दी जाने वाली पोषाहार पशुओं को खाने के लिए बेचे जाने का मामला जनपद न्यूज Live द्वारा सामने लाने के बाद जिलाधिकारी ने जांच के बाद सत्यता पाए जाने पर जिला कार्यक्रम अधिकारी को रॉबर्ट्सगंज परियोजना केंद्र अन्तर्गत बनौरा की आँगनबाड़ी कार्यकर्ती समेत कुल 8 आँगनबाड़ी कार्यकार्तियों की सेवा समाप्त करने का आदेश दे दिया है। जिलाधिकारी के इस तेवर के बाद बाल विकास परियोजना विभाग में हड़कम्प मचा हुआ है। आपको बतादें कि अब तक जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम लगातार अपने बेहतर काम को लेकर जिले में चर्चा में हैं।

पूरे मामले पर जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत सिंह ने बताया कि “जिलाधिकारी के आदेशानुसार नियमित रूप से पोषाहार का सत्यापन रैण्डम आधार पर कराया जा रहा है, पोषाहार वितरण में अनियमितता पाये जाने, नियमित रूप से सौंपे गये कार्यों का निर्वहन न करने वाली आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों एवं सहायिकाओं का नियमानुसार सेवा समाप्ति की कार्यवाही की गयी है। जिसमें कुल 08 आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की जिलाधिकारी के अनुमोदनोपरान्त सेवा से बर्खास्त किया गया है। जिसमें राबर्ट्सगंज परियोजना के केन्द्र बनौरा की आंगनबाड़ी कार्यकर्ती कुसुम की सेवा समाप्त की गयी है। कुसुम द्वारा पोषाहार वितरण में व्यापक पैमाने पर अनियमितता करते हुए पोषाहार की कालाबाजारी की गयी थी। वहीं क्षेत्रीय मुख्य सेविका राधा देवी को प्रतिकूल प्रविष्टि प्रदान करते हुए नोटिस जारी किया गया है। इसके साथ ही शहर परियोजना की 03 सहायिकाओं को सेवा से बर्खास्त किया गया है। ओबरा वार्ड नं0 7 की सहायिका इन्दू शर्मा, चोपन के वार्ड नं0 4 की सहायिका बबिता देवी तथा पिपरी वार्ड नं0 2 की शीला कुमारी तथा बभनी परियोजना अंतर्गत आंगनबाड़ी केन्द्र कोरची प्रथम की आंगनवाड़ी कार्यकर्ती भागमनी देवी, आंगनबाड़ी केन्द्र सेमेरिया की आंगनबाड़ी कार्यकत्री विफइया देवी, आंगनबाड़ी केन्द्र बरवाटोला प्रथम की आंगनबाड़ी कार्यकर्ती सलीमुन निशा व आंगनबाड़ी केन्द्र बड़होर प्रथम की सहायिका सरिता देवी की सेवा जिलाधिकारी के अनुमोदनोपरान्त सेवा समाप्त कर दी गयी है।”

वहीं 01 सितम्बर को जिला पोषण समिति की बैठक में जिलाधिकारी द्वारा बाल विकास पुष्टाहार विभाग के बाल विकास परियोजना अधिकारी को सख्त निर्देश दिया गया है कि किसी भी दशा में पोषाहार का दुरूपयोग नहीं होना चाहिए। दुरूपयोग करते हुए पायी गयी कार्यकर्ती के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। यदि पोषाहार दुरूपयोग में किसी अधिकारी एवं कर्मचारी की संलिप्तता पायी जाती है तो उनके विरूद्ध भी सख्त कार्यवाही की जाएगी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!