डॉक्टर कफील खान को लेकर यूपी सरकार को लगा झटका, NSA हटाने का इलाहाबाद हाईकोर्ट का निर्देश

गोरखपुर के डॉक्टर कफील खान पर उत्तर प्रदेश सरकार ने जो NSA लगाया था, उसे इलाहाबाद हाईकोर्ट ने हटाने का निर्देश दिया है। मंगलवार को इस मामले में फैसला सुनाते हुए अदालत ने डॉ. कफील को तुरंत रिहा करने को कहा है । अब इस फैसले के बाद विपक्षी नेताओं की ओर से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं, साथ ही योगी सरकार पर निशाना साधा जा रहा है।

कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस फैसले पर ट्वीट किया । उन्होंने लिखा कि आज इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कफील खान के ऊपर से रासुका हटाकर उनकी तत्काल रिहाई का आदेश दिया । आशा है कि यूपी सरकार डॉ कफील खान को बिना किसी विद्वेष के अविलंब रिहा करेगी ।कफील खान की रिहाई के प्रयासों में लगे तमाम न्याय पसंद लोगों व उप्र कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को मुबारकबाद ।

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने भी ट्वीट कर योगी सरकार को घेरा । संजय सिंह ने लिखा कि कफील खान के मामले में हाई कोर्ट का फैसला योगी सरकार के अन्यायी चेहरे को बेनकाब करता है । ध्यान से पढ़ो योगी जी, हाई कोर्ट ने कहा “कफ़ील खान का भाषण राष्ट्रीय एकता और अखंडता की अपील करता है” और योगी जी ने कफील को राष्ट्रद्रोही घोषित कर दिया “शर्मनाक”।

यूपी कांग्रेस की ओर से ट्वीट कर लिखा गया कि न्याय की दृष्टि में डॉ कफील खान पर एनएसए बढ़ाते जाना गैर कानूनी था. लेकिन न्याय को हर रोज कुचलने वाली यूपी सरकार को इससे फर्क कहां पड़ता है । आज न्याय की जीत हुई, कफील खान पर से कोर्ट ने एनएसए हटाया ।आपको बता दें कि कफील खान पर CAA और NRC के दौरान भड़काऊ भाषण देने का आरोप लगा था, जिसके बाद उनपर NSA लगाया गया था । पिछले करीब 7 महीने से कफील खान जेल में बंद थे। NSA लगाने के फैसले को उनके परिवार की ओर से अदालत में चुनौती दी गई थी ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!