मनिया नगर पंचायत ईओ मणि मंजरी राय सुसाइड केस में परिजनों ने की सीबीआई जांच की मांग

मनिया नगर पंचायत ईओ मणि मंजरी राय सुसाइड केस में मंजरी राय के परिजनों ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पुलिसिया कार्रवाई पर गंभीर सवाल उठाए हैं। बलिया में मंजिरी राय के पिता और भाई ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। मंजरी राय के परिजनों ने इस मामले में अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी ना होने पर पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान खड़ा किया है। इस दौरान मंजरी के परिजनों ने कहा कि मनियर नगर पंचायत में व्याप्त करप्शन पर रोक लगाने पर मंजरी राय की हत्या कर दी गई। मंजरी के पिता ने कहा कि मनियर नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता मनियर के पूर्व ईओ संजय राव समेत अन्य आरोपी मंजरी राय पर फर्जी बिलों के भुगतान का दबाव बना रहे थे। मंजिली राय के ऐसा न करने पर उनकी हत्या कर दी गई, और शव को फंदे पर लटका कर आत्महत्या का रूप देने की कोशिश की गई है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में मंजरी के पिता और भाई ने आरोप लगाया कि मनिया नगर पंचायत में भ्रष्टाचार करने वाले लोगों ने मंजरी राय की हत्या की और इस मामले को सुसाइड केस बनाया जा रहा है। परिजनों ने मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है। 6 जुलाई को मनियर नगर पंचायत की ईओ मंजरी राय का शव उनके आवास पर फांसी के फंदे पर लटकता पाया गया था। संदिग्ध हालात में मंजरी राय का शव मिलने के बाद प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया। मंजरी राय के परिजनों ने इस मामले में बलिया शहर कोतवाली में केस दर्ज कराया था। जिसमें मनियर नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता, मनियर के पूर्व ईओ संजय राव विभाग के कंप्यूटर ऑपरेटर, लिपिक और ड्राइवर आरोपी हैं। पुलिस ने इस मामले में अभी तक सिर्फ ड्राइवर चंदन को ही गिरफ्तार किया है। जबकि अन्य आरोपी अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं। ऐसे में मंजिरी राय के परिजन पूरी तरह हताश और निराश नजर आ रहे हैं। परिजनों ने इस मामले में हो रही कार्यवाही पर गंभीर सवाल खड़ा करते हुए पूरे मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!