वन विभाग के उत्पीड़न से आक्रोशित आदिवासियों ने रेंज परिसर में किया प्रदर्शन

एस प्रसाद(संवाददाता)

म्योरपुर। क्षेत्र के गरीब ग्रामीण आदिवासियों ने वन विभाग द्वारा मनमानी रवैया अपनाने,मानसिक उत्पीड़न करने और अवैध वसूली से आक्रोशित रेंज परिसर में प्रदर्शन किया।आज रविवार को ग्राम बभनडीहा,भलुही के दर्जनों ग्रामीण आदिवासी लकडाऊन नियमो का पालन करते हुए सामाजिक दूरी बना रेंज परिसर कार्यालय पहुंच कर प्रदर्शन करते हुए वन विभाग के रेंजर सहित कर्मचारियों पर मनमानी रवैया अपनाकर गरीबों को घर से पकड़ कर ऑफिस लाकर मारते पीटते हुए मानसिक उत्पीड़न कर जबरन हजारों रुपये अवैध वसूली का आरोप लगाया है।ग्रामीणों ने एक स्वर में कहा कि वर्षों से जोत कोड करते आ रहे जमीन पर अन्न पैदावार कर परिवार का भरण-पोषण कर रहे हैं जिस पर वनाधिकार समिति में दावा भी पेश किया गया है। परन्तु वनकर्मी बेवजह फर्जी मुकदमें में फंसाने की धमकी देकर ग्रामीणों से अवैध वसूली कर रहा है। अगर विभाग अपने कार्य प्रणाली में सुधार नही लाया तो जिलाधिकारी कार्यालय सोनभद्र के यहां आंदोलन करने को बाध्य होंगे।

पीड़ित रमेश कुमार पुत्र स्व.रामप्रसाद ने कहा कि 28 अगस्त को अपने घर पर था कि अचानक वन विभाग के लोग आये और उठाकर रेंज आफिस ले जाकर मारे पिटे वहीं जबरन दस हजार रुपये भी ले लिया गया है अब हमारे बाल बच्चे भुखमरी के कगार पर हो गए हैं।इस लकडाऊन में वन विभाग अवैध वसूली कर काली कमाई कर रहा है।

इस सम्बन्ध में प्रभारी रेंजर राजेश सोनकर ने कहा कि जंगल की जमीन जोतने पर एक लोग से जुर्माना वसूला गया था जिसे लेकर पचास से अधिक संख्या में ग्रामीण आये थे जिन्हें सन्तुष्ट कर भेज दिया गया है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!