स्वमं सहायता समूह की महिलाओं के जिम्मे नगर की स्वच्छता, ‘मिशन क्लीन सिटी’ का शुभारंभ

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

● समूह के 20 महिलाओं को मिली 20 वार्डों की जिम्मेदारी

● प्रतिमाह महिलाओं को मिलेगा 7500 का मानदेय

सोनभद्र । प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत बनाने की दिशा में सोनभद्र जिला प्रशासन ने अनोखी पहल शुरू की है । जिला प्रशासन ने न सिर्फ आत्मनिर्भर बनाने बल्कि नारी सशक्तिकरण को मजबूत बनाने के दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। अब राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) के स्वयं सहायता समूह की महिलाएं घर-घर जाकर कूड़े का उठान करेंगी। इसके लिए नगर पालिका परिषद व एनआरएलएम के बीच करार भी हुआ है। जिले में गुरुवार से इसकी शुरुआत की गई।

डीसी एनआरएलएम अरुण कुमार जौहरी ने बताया कि “जिलाधिकारी के निर्देश पर आज एनआरएलएम की ओर से नगर पालिका के कन्वर्जेंस के माध्यम से स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के लिए रोजगार का नया रास्ता प्रशस्त किया गया है। जिसमें रॉबर्ट्सगंज नगर को मिशन क्लीन सिटी के तहत स्वच्छ, सुंदर बनाने के लिए नगर की महिला समूहों की 20 सदस्य ठेला लेकर नगर के 20 वार्डों में घर-घर जाकर कचरा इकट्ठा करेंगी। इस कार्य के बदले इन महिलाओं को प्रतिमाह 7500 रुपए मानदेय के रूप में दिया जाएगा। जिससे कि वे अपने परिवार का भरण पोषण कर सकेंगी। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी के इस पहल से न केवल समूह की महिलाओं को रोजगार मिलेगा बल्कि उनके परिवार का भरण पोषण होगा साथ ही स्वयं सहायता समूह मजबूती की ओर भी अग्रसर होगा।”

इस कार्यक्रम के शुभारम्भ के दौरान जिला प्रबंधक एनआरएलएम एमजी रवि, नगर पालिका से आकाश रावत, कौशल्या, रीता, प्रभावती, चंद्रावती, दुर्गा देवी, ममता, बबिता, गिरवंती, जयंती देवी, सिबाती, मझारी समेत अन्य लोग उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!