कोरोना महामारी में भी कोटेदार के खिलाफ ग्रामीणों ने फूंका बिगुल, लगाए गंभीर आरोप, जांच शुरू

राजेश गुप्ता (पीलीभीत)

कोरोना संक्रमण के दौरान सरकार ने लोगों को राहत देने के लिए मुफ्त राशन दे रही है । ताकि लोगो को इस महामारी में खाने की दिक्कत न हो । आपको बतादें कि यूपी सरकार ने गेंहू – चावल के साथ चना व सत्तू दे रही है । ताकि गरीब लोगों को यदि कुछ नहीं मिला तो वे भूखे न सोएं । लेकिन सरकार के तमाम कोशिशों के वावजूद कई कोटेदार ऐसे हैं जो इस महामारी में मिलने वाले राशन में भी सेंधमारी कर रहे हैं ।

ताजा मामला तहसील कलीनगर क्षेत्र के ग्राम नवादिया सुखदास पुर से प्रकाश में आया है। जहां बड़ी संख्या में ग्रामीणों का आरोप है कि कोटेदार उन्हें मिलने वाला राशन पूरा नहीं देता । प्रति कार्डधारक से 2 किलो राशन की कटौती करता है । इतना ही नहीं ग्रामीणों का आरोप है कि सरकार की तरफ से दिए जाने वाला 1 किलो चना में भी 100 ग्राम की कटौती कर देता है। ग्रामीणों ने डरते हुए बताया कि कोटेदार मनमानी के साथ दबंगई भी करता है, ज्यादा विरोध करने पर पुलिस को बुला देता है । कोरोना काल में इस तरह की शिकायत को लेकर प्रशासन भी एलर्ट है। जिसकी वजह से यह जांच उप जिलाधिकारी कलीनगर को सौंपी गई है। हालांकि इस पूरे मामले पर उप-जिलाधिकारी कलीनगर मीडिया के कैमरे पर कुछ भी बोलने से बचते नजर आये ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!