नवनिर्मित एकलव्य विद्यालय में गबन के आरोप में कार्यदायी संस्था पर दर्ज कराएँ एफआईआर : डीएम

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम व पुलिस अधीक्षक आशिष श्रीवास्तव ने नवनिर्मित जनजाति एकलव्य आवासीय विद्यालय पीपरखाड़ का आकस्मिक निरीक्षण किया।

इस दौरान जिलाधिकारी ने संबंधितों को निर्देशित करते हुए कहा कि “जनजाति एकलव्य आवासीय विद्यालय पीपरखाड़ में 2 करोड़ रूपये के किये गये गमन के सापेक्ष जिला समाज कल्याण अधिकारी घोटालेबाज कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश समाज कल्याण निर्माण निगम के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायें। जिला समाज कल्याण अधिकारी/जिला जनजाति कल्याण अधिकारी अपने दायित्वों को समझें। भवन तैयार होने के बावजूद भवन को क्रियाशील न कराना व गमन होने के बावजूद एफआईआर दर्ज न होना सम्बन्धितों के लापरवाही का सबूत है। जनजाति एकलव्य आवासीय विद्यालय पीपरखाड़ की तकनीकी जॉच ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, पीडल्ब्यूडी की संयुक्त टीम से करायी जाय। मूल स्टीमेट से खर्चों का मिलान कराया जाय और कमियाँ पाये जाने पर सम्बन्धितों के खिलाफ कार्यवाही भी की जाय।”

जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश समाज कल्याण निगम को फटकार लगाते हुए मौके पर मौजूद जिला समाज कल्याण अधिकारी/जनजाति कल्याण अधिकारी को दायित्वबोध कराते हुए कहा कि जब भवन के 2 करोड़ की धनराशि के गमन की जानकारी हुईं तो किस वजह से सम्बन्धितों के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं करायी गयी और उन्होंने कहा कि जितना भवन तैयार है, उसे उपयोग में लाने के लिए यानी जनजाति समाज के बच्चों को आवासीय सिस्टम के साथ शिक्षा प्रदान करने के लिए जल्द से जल्द पूरी कार्य योजना बनाकर प्रस्तुत किया जाय। जिलाधिकारी ने बालक स्कूल परिसर, बालिका स्कूल परिसर, बालक आवासीय परिसर, बालिका आवासीय परिसर का निरीक्षण किया और मौके पर मौजूद जिला समाज कल्याण अधिकारी/जिला जनजाति कल्याण अधिकारी को दायित्वबोध कराते हुए जल्द से जल्द पानी व बिजली का कनेक्शन कराने की मांग पत्र प्रस्तुत करने व भवन को प्राप्त करते हुए शासनादेानुसार आदिवासी बच्चों को पीपरखाड़ में निर्मित एकलव्य आदिवासी विद्यालय की पढ़ायी शुरू कराने के निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि बिजली कनेक्शन, पानी कनेक्शन व जरूरी मरम्मत का कार्य जल्द से जल्द पूरा कराया जाय और तकनीकी टीम के जॉच में जो कमियां पायी जायेंगी, उसके अनुरूप प्रभावी कार्यवाही भी लापरवाहों के खिलाफ की जाय।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!