खाद की किल्लत बढ़ी, सरकारी क्रय केंद्रों पर हर दिन लग रही सैकड़ों किसानों की भीड़

आलोक शर्मा (संवाददाता)

– सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ रही धज्जियां, अधिकारी बेखबर

आंवला । यह तस्वीर किसी जलसे की नहीं बल्कि यूरिया लेने के लिए किसानों की लगी लाइन है । इन दिनों तहसील आंवला में यूरिया के लिए किसान सुबह से ही सरकारी क्रय केंद्रों पर लाइन लगा कर खड़े रहते हैं । लेकिन अफसोस इस बात का है कि शाम तक हर किसान को खाद मुहैया नहीं हो पा रही । अगले दिन फिर वही कहानी दोहराई जा रही । इस प्रकार की व्यवस्था से किसान न सिर्फ परेशान बल्कि नाराज भी है ।

एक तरफ जहां नोबेल कोरोना वैश्विक महामारी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है वहीं सरकारी क्रय केंद्रों पर किसानों की भारी भीड़ व लंबी लाइन सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ा रही है ।

किसानों का कहना है कि हम सुबह से आकर लाइन में लग जाते हैं उसके बाद भी बारिश और धूप सहते हुए हमें खाली हाथ ही घर लौटना पड़ता है । हरदासपुर के किसान पुनीत गुप्ता ने बताया कि हमारी फसलें बिना खाद के पोषक तत्वों के लिए तरस रही है । वही ग्राम मनोना के किसान शेखर शर्मा व गगन पाठक ने बताया कि कई दिन भटकने के बाद भी अभी तक हमें खाद उपलब्ध नहीं हो पाया ।

इस पूरे मामले पर आंवला के उप जिला अधिकारी कमलेश कुमार सिंह ने जांच की बात कही है । वहीं सोसायटी के सभापति नत्थू सिंह लोधी ने खाद की समस्या को लेकर हर संभव मदद का वादा किया है । जबकि क्षेत्र के विधायक व पूर्व मंत्री धर्मपाल सिंह ने भी खाद की किल्लत को जल्द दूर करने की बात कही है ।
बहरहाल अब देखना यह है कि अन्नदाता की समस्या का समाधान कब तक हो पाता है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!