जेपी नड्डा ने ट्वीट कर राहुल गांधी पर किया पलटवार, कहा- आपने और आपकी मां ने हमारे राष्ट्रीय हित को चोट पहुंचाने के लिए चीनियों से पैसे भी लिए

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम-केअर्स फंड को लेकर सरकार पर हमला बोला था । राहुल गांधी ने इस फंड को राइट टू इम्प्रोबिटी बताया था । अब भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर राहुल गांधी पर पलटवार किया है । उन्होंने कहा है कि पूरे देश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी पहल पूरा भरोसा है।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि यह विश्वास पीएम-केअर्स के लिए भारी समर्थन के साथ दिखा भी। उन्होंने राहुल पर तंज करते हुए कहा कि आप हारने वाले लोग केवल झूठी खबरें फैला सकते हैं। पूरे देश ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हाथ मिलाया है। बीजेपी अध्यक्ष ने राहुल गांधी को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि आपने और आपकी मां ने हमारे राष्ट्रीय हित को चोट पहुंचाने के लिए चीनियों से पैसे भी लिए।

गांधी परिवार के खिलाफ जेपी नड्डा ने हमला राहुल गांधी के उस ट्वीट के बाद किया है, जिसमें वायनाड सांसद ने प्रधानमंत्री कार्यालय पर निशाना साधा था। राहुल गांधी ने एक अखबार की खबर को ट्वीट किया था, जिसमें लिखा था कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने पीएमकेयर्स से संबंधित आरटीआई का जवाब देने से मना कर दिया। अखबार की खबर शेयर करते हुए राहुल गांधी ने लिखा, ‘पीएमकेयर्स फॉर राइट टू इम्प्रोबिटी।’

कांग्रेस सांसद पर निशाना साधते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि पूरे देश को पीएम और उनकी पहल पर पूरा भरोसा है। उन्होंने कहा, ‘लोगों का विश्वास पीएमकेयर्स के लिए बड़े पैमाने पर समर्थन के साथ दिखाई दे रहा है। एक हारे हुए इंसान होने के नाते, आप सिर्फ फेक न्यूज ही फैला सकते हैं। वहीं, पूरा देश कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एक साथ है।’

बीजेपी अध्यक्ष नड्डा ने लिखा, ‘ऐसा ही होता है, जब ‘प्रिंस ऑफ इनकॉम्पीटेंस’ बिना पढ़े हुए आर्टिकल्स को शेयर करते हैं। यह आरटीआई एक दूसरे आरटीआई के बारे में जानने के लिए फाइल की गई थी। पारदर्शिता पर हमले के रूप में यह आपके द्वारा दुर्भावना से सामने लाया गया है। खैर, यह स्वाभाविक है कि आपका करियर केवल फर्जी खबरें फैलाने पर आधारित है।’

इससे पहले भी बीजेपी यूपीए के शासनकाल में प्रधानमंत्री राहत कोष का पैसा राजीव गांधी फाउंडेशन में डायवर्ट किए जाने का आरोप लगा चुकी है। बीजेपी ने आरोप लगाया था कि पीएमएनआरएफ संकट में लोगों की मदद करने के लिए बनाया गया था, लेकिन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार के कार्यकाल में आरजीएफ को पैसे दान किए जा रहे थे। पीएमएनआरएफ के बोर्ड में कौन बैठा था? सोनिया गांधी। वहीं, आरजीएफ की अध्यक्ष भी सोनिया गांधी ही हैं। इसके अलावा, साल 2017 में राहुल गांधी के चीनी राजदूत से मुलाकात पर भी काफी विवाद हुआ था। राहुल गांधी ने जुलाई, 2017 को ट्वीट करके बताया था कि वे चीनी राजदूत से मिले हैं। इसके बाद, बीजेपी कई मौकों पर इस मुलाकात का जिक्र करते हुए राहुल गांधी को घेर चुकी है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!