ओबरा उधोग व्यापार प्रतिनिधि मंडल ने एक सिमित संख्या की बुलाई बैठक

कृपाशंकर पांडे (संवाददाता)

ओबरा। ओबरा बाजार के छोटे बड़े सभी व्यवसाई इस बेतुके फरमान से परेशान है, छ माह से बंदी की मार झेल रहे छोटे व्यवसाई भुखमरी की मार झेल रहे है ,बडे व्यवसाईयों के पास काम बंद होने से दुकान का भाड़ा बिजली का बिल निकालना मुस्किल होगया है वह अपने अधिक कर्मचारियों को हटा रहे है , जिससे उनका भी परिवारिक जीवन बिगड़ गया है , कोरोना एक महामारी जरुर है पर व्यापारिक पतन का कारण बनते जा रहाँ है।

आज दिन मंगलवार को ,ओबरा उधोग व्यापार प्रतिनिधि मंडल की एक सिमित संख्या की बैठक बुलाई गई जिसमें जिलाअधिकारी महोदय द्वारा सोनभद्र के ओबरा ,रेनुकूट ,अनपरा मे 9 बजे से 1बजे तक ही दुकाने खुलने का आदेश दिया गया है ,इस आदेश से व्यापारियों मे बहुत ही निरासा है , चाय पान चाट फुल्की के छोटे व्यापारियों का धंन्धा समाप्त हो चुका है , ओबरा नगर मे गाँव से आने वाले ग्राहको को इस नियम के तहत बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है बैठक की अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष सुशील गोयल ने जिलाअधिकारी महोदय से इस आदेश पर पुनर्विचार करने की मांग की जिलाउपाध्यक्ष आलोक भाटिया ने समय सीमा बढ़ाने और बदलने की अपील की संचालन कर रहे जिलामहामंत्री सुशील कुशवाहा ने कहाँ बगल के जिला बनारस मे 9बजे से 5बजे तक दुकाने खुल रही है जब की वहा यहा से ज्यादा पाजेटिव केस है, कोषाध्यक्ष सुनीत खत्री ,उपाध्यक्ष राजकुमार अग्रवाल ने कहाँ कम से कम 8 घंटे का समय तो मिलना ही चाहिये उपाध्यक्ष पुरन पुरवार जिलामिड़िया प्रभारी राजेश जिंदल ने कहा चार घंटे बाजार खुलने से बाजार मे सोसलडिस्टेसिगं का पालन नही हो पाता अगर समय 8 घंटे का हुआ तो कुछ समस्याएं कम होगी ।

सभी ने जिलाअधिकारी महोदय से पुनर्विचार करने समय सीमा बढ़ाये जाने का आग्रह किया मौजूद मनोज अग्रवाल ,अमीत मित्तल , विरेन्द्र मित्तल , आदी व्यापारी प्रतिनिधि रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!