आरएसएस कार्यकर्ता व पत्रकार का एक और हत्यारोपी गिरफ्तार

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर। पत्रकार व आरएसएस कार्यकर्ता का एक और हत्यारोपी को पुलिस ने मंगलवार को दबोच लिया। जिले के करंडा थाना अंतर्गत बा्रहमणपुरा निवासी राजेश मिश्रा मूलतः आरएसएस के कार्यकर्ता थे। बाद में वह पत्रकारिता के पेशे से जुड़ गए। दैनिक जागरण अखबार में वह करंडा के प्रतिनिधि थे। उनकी बेबाक लेखनी होने के कारण माफियाओं के बराबर निशाने पर थे। आज पकड़ा गया बदमाश मैनपुर गांव निवासी बलवंत राम उर्फ छोटू है।बाह्मणपुरा गांव के बाहर सड़क किनारे राजेश मिश्रा ने एक कटरे का निर्माण कराया था। वहीं उनके भाई अमितेश मिश्रा की गिट्टी बालू की दुकान है। 17 अक्टूबर 2017 को पत्रकार राजेश मिश्र अपने भाई की दुकान पर सुबह सात बजे ही चले गए। वह दुकान पर बैठे ही थे कि दो बाइक पर सवार होकर चार बदमाश आए और ताबड़तोड फायरिंग शुरू की दी। राजेश व अमितेश दोनों भाई वहां से भागे किंतु कुछ ही दूर भाग पाए थे कि राजेश लड़खड़ाकर गिर गए। इसी बीच मौके पर पहुंचे बदमाशों ने उनके सिर में गोली मारकर मौत की नींद सुला दिया। इस मामले में पत्रकार राजेश मिश्र के परिजनों ने चारों बदमाशों को पहचान लिया था और नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी।एक बदमाश मारा गया एनकाउंटर में पत्रकार राजेश मिश्र की हत्या में शामिल एक बदमाश अलीपुर-बनवगांव निवासी राजेश दुबे को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया था। वहीं एक अन्य बदमाश लोनेपुर गांव निवासी रवि यादव जमानत पर जेल से बाहर है। एक अन्य ब्राहृमणपुरा गांव निवासी व राजेश हत्याकांड का सूत्रधार सतीश मिश्र अब भी फरार चल रहा है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!