अवैध खनन व परिवहन के मामले पर प्रशासन सख्त, ओबरा में व्यापारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज

कृपा शंकर पांडेय के साथ आनन्द कुमार चौबे की स्पेशल रिपोर्ट

प्रतीकात्मक तस्वीर

● जांच में साबित हुआ अवैध खनन

● अपराध मुक्त जिला बनाने की दिशा में जिला प्रशासन का बड़ा कदम

● पूरे जिले से मंगाई माफियाओं की सूची

● पूरे जिले से 135 माफियाओं की सूची तैयार

● सभी 135 माफियाओं के अवैध संपत्तियों के बारे में लगाया जा रहा है पता

● सभी की अवैध संपत्ति होगी कुर्क

● पुलिस अधीक्षक ने खुद दी जानकारी

● अब तक चार प्रकरणों में लगभग 7.70 करोड़ की संपत्ति को किया गया कुर्क

● जबकि अन्य तीन प्रकरणों में 1.42 करोड़ का प्रस्ताव जिलाधिकारी को भेजा गया, जिस पर होगी कुर्क की कार्यवाही

सोनभद्र यूँ तो अवैध खनन को लेकर अक्सर खनन व्यवसायियों पर आरोप लगते रहे हैं और इसकी खबर भी मीडिया में आती रही हैं। मगर हर बार अवैध खनन को लेकर प्रशासन अपनी दलीलें देकर मामले को रफा-दफा करता रहा है लेकिन लम्बे समय बाद जिला प्रशासन के आदेश पर अवैध खनन की जांच की गई, जिसमें अवैध खनन व परिवहन सही पाए जाने पर एक बड़े व्यापारी के खिलाफ ओबरा थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया। प्रशासन की इस कार्यवाही से अवैध खनन कर्ताओं में हड़कम्प मचा हुआ है।

जिला प्रशासन को लंबे समय से यह शिकायत मिल रही थी कि ओबरा में मंगेश्वर बाबा स्टोन वर्क्स के प्रतिनिधि धीरज राय पुत्र वशिष्ठ राय निवासी बिल्ली मारकुण्डी (खैरटिया) में चोरी-छिपे अवैध खनन किया जा रहा है साथ ही अवैध परिवहन भी किया जा रहा है। अपर जिलाधिकारी के आदेश पर जाँच गठित की गई और जांच टीम ने मौके की विस्तृत जांच की। नायब तहसीलदार सोनभद की जाँच आख्या 31जुलाई के अनुसार ग्राम बिल्ली मारकुण्डी के आराजी सं0 4865 क के सम्पूर्ण भाग 448660/1 के आंशिक भाग पर में मंगेश्वर बाबा स्टोन वर्क्स के प्रतिनिधि धीरज राय पुत्र वशिष्ठ राय निवासी बिल्ली मारकुण्डी (खैरटिया) द्वारा चोरी छिपे अवैध खनन/परिवहन किया गया है।

जांच आख्या के मुताबिक धीरज राय द्वारा न सिर्फ अवैध खनन बल्कि अतिरिक्त मिट्टी का ओवरवर्डन भी हटाया गया है, कुल मिला कर इस साइड पर अवैध खनन व परिवहन किया गया है।

जाँच रिपोर्ट आते ही एडीएम ने तत्काल खनन अधिकारी को धीरज राय के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने का आदेश दे दिया। जिसके बाद धीरज राय के खिलाफ ओबरा थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है। इस सबन्ध में पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि मामला दर्ज कर जांच की जा रही है।

आपको बतादें कि इस समय जिला प्रशासन की निगाह ऐसे लोगों पर है जो जिले में अवैध कार्यों में लिप्त हैं और उससे धन अर्जित कर अपनी संपत्ति बनाने में जुटे हैं। ऐसे ही 135 माफियाओं को पूरे जिले से चिन्हित किया गया है जिनके विरुद्ध कार्यवाही की जा रही है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!