क्राइम ब्रांच की टीम ने 4 लुटेरों को किया गिरफ्तार

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर। करंडा थाना पुलिस को बड़ी सफलता मिली।क्राइम ब्रांच टीम के साथ उसने चार लुटेरों को गिरफ्तार कर पिछले माह थाना क्षेत्र में हुए लूट की वारदात का खुलासा कर दिया। शनिवार को पुलिस लाइन में अभियुक्तों को मीडिया के समक्ष पेश करते हुए एसपी सिटी गोपीनाथ सोनी ने बताया कि गिरफ्त में आए बदमाश अपने शौक को पूरा करने के लिए लूट की वारदात को अंजाम देते थे।एसपी सिटी ने बताया कि बीते 5 जुलाई को करंडा थाना क्षेत्र के दीनापुर के पास रात में करीब नौ बजे सैदपुर थाना क्षेत्र के रावल गांव निवासी राजाराम यादव की बाइक, मोबाइल सहित 15 हजार की लूट की वारदात हुई थी। पीड़ित की तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत कर पुलिस लुटेरों की तलाश में जुट गई थी। मुखबिर से सूचना मिली कि धरम्मरपुर चट्टी के पास लुटेरे मौजूद है। इस पर पुलिस तत्काल हरकत में आते हुए गिरफ्तारी हेतू मौके के लिए रवाना हो गई। मौके पर पहुंचने पर जैसे ही लुटेरों की नजर पुलिस पर पड़ी, वह भागने चाहे, लेकिन पुलिस ने घेरेबंदी कर उन्हें दबोच लिया। उनके पास से लूटी गई बाइक, मोबाइल, 2940 नकदी, घटना में प्रयुक्त बाइक के साथ ही दो तमंचा एवं तीन कारतूस बरामद किया। एसपी सिटी ने बताया कि गिरफ्तार में लुटेरे में सोकनी बड़हरिया निवासी दीपक यादव, रमजनपुर निवासी अंकुर यादव, जमानिया कसबा निवासी रोहित शर्मा, जमानिया कस्बा निवासी सिद्धार्थ नारायण शामिल है। पूछताछ में इन्होंने करंडा के दीनापुर में लूट के वारदात को अंजाम देने की बात स्वीकर किया। उन्होंने बताया कि अपना शौक पूरा करने के लिए लूट की घटना को अंजाम देते थे। अभियुक्तों का चालान कर जेल भेज दिया गया। गिरफ्तार करने वालों में निरीक्षक स्वाट टीम प्रभारी श्याम जी यादव, उपनिरीक्षक अजय कुमार पांडेय, उपनिरीक्षक रामाश्रय राय, उप निरीक्षक आलोक कुमार मिश्रा, उपनिरीक्षक सत्यप्रकाश सिंह, उपनिरीक्षक शिवपूजन बिंद, हेड कांस्टेबल रामभवन और कांस्टेबल रमन कश्यप शामिल थे। पुलिस अधीक्षक ने गिरफ्तार करने वाली टीम को दस हजार की धनराशि देकर पुरस्कृत किया।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!