बारिश कम होने से किसान चिंतित, सूखने लगी धान की फसल, तो कहीं नर्सरी ही रह गई खेतों में

रमेश यादव (संवाददाता)

दुद्धी ।इस बार काफी कम बारिश होने के कारण किसान चिंतित हैं क्योंकि अब धान की फसल सूखने लगी तो कही कही किसानों की नर्सरी भी पानी नही होने के कारण खेतो में ही पड़ी हुई हैं जबकि जुलाई माह बीत चुके हैं ।बारिश का समय अब एक एक दिन निकलता जा रहा है। बारिश नहीं होने से किसानों को फसल उत्पादन की चिंता सताने लगी है।जून माह के अंत सप्ताह में तथा जुलाई के पहले सप्ताह में कुछ बेहतर बारिश होने से किसानों को अच्छी बारिश की उम्मीद थी लेकिन जुलाई माह के दूसरे पखवाड़े में मानसून ने अपना रूप बदल लिया।बारिश नहीं होने पर दुद्धी तहसील क्षेत्र के टेढ़ा, दिघुल, बघाडू, हरपुरा, बैरखड़, सागोबन्ध, बभनी,म्योरपुर सहित कई इलाकों में धान की फसलों को पर्याप्त पानी नहीं मिलने से पैदावार को लेकर संशय बना हुआ है। किसानों की उम्मीद अब उतरा और हथिया नक्षत्र पर टिकी हुई है। उतरा और हथिया नक्षत्र में यदि अच्छी बारिश हुई, तब धान की पैदावार कुछ हद तक हो सकती है। अगर हथिया नक्षत्र में बारिश नहीं हुई तो किसान बदहाल हो जाएंगे। उत्पादन का लक्ष्य भी 20 से 40 प्रतिशत तक कम हो जाएगा।साथ ही इसका असर अगले रबी फसल की खेती पर भी पड़ेगा।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!