कोरोना काल में कैसे मनाएं रक्षाबंधन

राकेश चौबे

भाई और बहन का खूबसूरत पर्व रक्षाबंधन इस वर्ष कोरोना काल में कल यानी कि 3 अगस्त 2020 दिन सोमवार को आ रहा है। रक्षाबंधन के दिन बांधा गया रक्षा सूत्र भाई को हर तरह के भय से बचाता है। यह रक्षासूत्र विपरीत स्थिति में मजबूती देता है। पूरी दुनिया कोरोना काल से जूझ रही है भारत में भी कोरोना का भारी संकट है। कोरोना काल में रक्षाबंधन के साथ बहुत सारे त्यौहार भी आ गए हैं जिन्हें भारतीय लोग सदियों से मनाते आए हैं। जो यहां की परंपरा में बसे हुए हैं और अपनी परंपराओं को निभाना सभी भारतीयों का अपना कर्तव्य है। इसी के चलते इसको कोरोना काल में किस प्रकार से त्योहारों को मनाना है यह जाना बहुत जरूरी हो गया है। महामारी ने पूरी दुनिया के नाक में दम कर रखा है और यह सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। कोरोना किसी चुनौती से कम नहीं है इसके चलते त्योहारों की रौनक भी फीकी पड़ रही है। साथ ही लोगों का त्योहार को मनाने का एक अलग आनंद होता है जो इस बार फीका पड़ रहा है। त्योहार को मनाने जीवन में खुशियां आती है और जीवन तनाव मुक्त रहता है। अब ऐसे माहौल में अपने और अपने परिवार की सुरक्षा के साथ-साथ अच्छे से त्योहार मनाना किसी चुनौती से कम नहीं रहा है। रक्षाबंधन एक ऐसा त्यौहार है जिसे भारतवर्ष में बहुत हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। आपको बता दें कि यह त्यौहार सावन माह की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। यह त्यौहार भाई बहन में प्यार बढ़ाने का काम करता है और इस खूबसूरत रिश्ते को एक नया रूप देता है। इस पावन पर्व पर भाई बहन एक दूसरे के साथ मिलकर खुशियां बांटते हैं। यह त्योहार भाई बहन के रिश्ते को मजबूती देता है। इस दिन भाई बहन की पुरानी यादें भी ताज़ा हो जाती है। साथ ही इस दिन भाई बहनों की बहुत सारी नई यादें भी बन जाती है। इस दिन बहन भाई की कलाई पर राखी बांधी है। बहन भाई के हाथ पर राखी इसलिए बांधती है ताकि वह सलामत रहे और इस दिन भाई भी हमेशा अपनी बहन की रक्षा करने का वादा करता है। साथ ही बहन भी उसकी लंबी उम्र की कामना करती है।

कोरोना काल में कैसे मनाएं राखी का पर्व, आइए जानते हैं….

घर पर ही बनाएं राखी व मिठाईयां

कोरोना काल को देखते हुए बहनें अपने भाइयों के लिए घर पर ही राखी व मिठाईयां बना सकती हैं। कहा जाता है अपने हाथ से बनाई गई चीजों में अपनापन जाता होता है। इस रक्षाबंधन पर इन तरीकों को अपनाकर त्योहार को खुशियों के साथ मनाया जा सकता है और बहनें जब भाइयों को अपने हाथों से बनी राखी और मिठाई देंगी तो बहन और भाई के बीच प्यार और ज्यादा बढ़ेगा। इस रक्षाबंधन बहनें अपने भाइयों के लिए मिठाई घर पर ही बनाएं क्योंकि कहा जाता है कि जो स्वाद अपने हाथ की बनाई हुई चीज में होता है वह बाहर भी चीज में नहीं होता। वैसे भी अब तो एक से एक अच्छी और आसान रेसिपी आपको यूट्यूब पर मिल जाएंगी तो इस बार अलग अंदाज में त्यौहार मनाने का आनंद लें।

इस बार डिजिटल तरीके से मनाएं रक्षाबंधन

अगर बात सोशल डिस्टेंसिंग की की जाए तो इस बार बहनें घर पर रहकर भी भाइयों के साथ रक्षाबंधन का त्यौहार मना सकती हैं। इस रक्षाबंधन डिजिटल तरीकों से भाई बहन रक्षाबंधन मना सकते हैं अगर आपका भाई या बहन आप से दूर है तो आप दूर बैठे वीडियो कॉल करके एक दूसरे को देख और सुन सकते हैं बहनें भाइयों की पूजा भी कर सकती है। कोरोना काल में अपनों से इंटरनेट के द्वारा जुड़ा जा सकता है और जितना हो सके यात्रा को टाल दें और ऐसे ही त्योहार का आनंद लें क्योंकि आपकी सावधानी ही आपके अपनों की सुरक्षा है

सोशल डिस्टेंसिंग से मनाएं त्यौहार

इस बार भाई अपनी बहनों को डिजिटल तरीकों से पैसे भी भेज सकते हैं और बहनें भी भाइयों को डिजिटल राखी भेज सकती है। रक्षाबंधन भाई बहन में प्यार बांटने का एक उत्सव है जिसे दूर बैठकर भी मनाया जा सकता है। कोरोना काल के चलते अगर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ त्यौहार को मनाया जाता है तो यह एक बेहतर बात होगी और ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसे अपनाना चाहिए। इंटरनेट ने हमारे सभी कामों को आसान कर दिया है। जिस प्रकार से सोशल डिस्टेंसिंग के जरिए अन्य कामों को किया जा रहा है उसी प्रकार से इस बार त्योहारों को भी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मनाया जाना चाहिए।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!