घर घर मे पढे गये ईद-उल-अजहा का नामाज, शान्तिपूर्ण संपन्न

पी.के.विश्वकर्मा (संवाददाता)-लगातार तीन दिनों तक होगी कुर्बानी- इलाकाई सदरकोन। कोरोना महामारी के मद्देनजर ईल-उल-अजहा का नामाज ज्यादातर मुस्लिम भाईयों ने अपने अपने घरों मे ही अदा कर त्योहार मनाते देखे गये,त्योहार पर अपने अल्लाह को खुश करने की परम्परागत प्रथा के रुप से सबसे अजीज जीव की कुर्बानी देने के लिए बकरे का कुर्बानी दिये।इस संबंध मे इलाकाई सदर अब्दुल राजीक ने बताया की इस वर्ष कोरोना महामारी के कारण ज्यादातर लोगों की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण कुर्बानी देने की संख्या पिछले बार से कम होने की संभावना है, जबकि पिछले वर्ष केवल देवाटन मे 92 बकरे की कुर्बानी हुआ था।ग्राम प्रधान देवाटन इबरार अली ने बताया कि कोरोना के मद्देनज़र सभी ज्यादातर लोग अपने अपने घरों मे ही नामाज अदा कर त्योहार मनाया जा रहा है वही ज्यादातर लोग घरों पर बकरे खिलाने से परहेज़ करते हुये सूखा मटेरियल ही घर घर बटवाने का काम किया जा रहा है ताकि भीडभाड़ एकत्रित न हो सके ,हालांकि पांच पांच की संख्या मे बारी बारी से कुछ लोग ईदगाह मे भी नामाज अदा किये।
शान्ति व्यवस्था के लिए सुबह से ही मुस्लिम बाहुल्य गांवों मे पुलिस की ड्यूटी तैनात रही, प्रभारी निरीक्षक अरविंद यादव ने बताया की क्षेत्र के सभी ईदगाह, व मस्जिद का भ्रमण कर जायदा लिया गया है। शान्तिपूर्ण ढंग से ईद-उल-अजहा का त्योहार मनाया गया।व संपन्न हुयी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!