सुशांत सिंह राजपूत मामले में महाराष्ट्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया कैविएट

सुशांत सिंह राजपूत मामले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती की याचिका पर पक्ष रखने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने भी सुप्रीम कोर्ट में कैविएट दाखिल किया है। राज्य सरकार चाहती है कि रिया की याचिका पर कोई भी आदेश पारित करने से पहले उसका पक्ष भी सुना जाए। इसके पहले बिहार सरकार और सुशांत के पिता भी कैविएट दाखिल कर चुके हैं ।

दरअसल, दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत के पिता कृष्ण कुमार सिंह ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ पटना में एफआईआर दर्ज करवाई है । इसी केस को मुंबई ट्रांसफर कराने की मांग करते हुए रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है । रिया की याचिका पर 5 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी।

इसको लेकर बिहार सरकार का कहना है कि इस याचिका का विरोध करेंगे । राज्य के महाधिवक्ता ललित किशोर ने कहा कि शीर्ष अदालत में मुकुल रोहतगी राज्य का प्रतिनिधित्व करेंगे ।

किशोर ने कहा, ‘‘हालांकि हमने चक्रवर्ती द्वारा दायर मामले में पक्षकार के रूप में शामिल किए जाने का अनुरोध नहीं किया है, लेकिन हम उनकी याचिका का विरोध करेंगे, क्योंकि इसमें बिहार राज्य के अधिकार क्षेत्र को चुनौती दी गई है ।’

रिया चक्रवर्ती ने अपनी याचिका में कहा है कि वह 1 साल तक सुशांत के साथ लिव इन रिलेशन में रहीं थीं । 8 जून को वह सुशांत के घर से सांताक्रुज में अपने घर चली गईं । सुशांत डिप्रेशन के मरीज थे । 14 जून को उन्होंने बांद्रा वेस्ट में अपने फ्लैट में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली ।

याचिका में यह कहा गया है कि रिया सुशांत से बहुत प्यार करती थीं । वह खुद इस घटना से काफी दुखी और परेशान हैं । यहां तक कि उन्होंने 16 जुलाई को एक ट्वीट कर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से यह प्रार्थना की कि वह मामले की जांच सीबीआई को सौंप दें । लेकिन सोशल मीडिया पर लोग उन्हें ही निशाना बना रहे हैं । उन्हें लालची कहा गया ।उनके चरित्र पर सवाल उठाए गए।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!