महिला सुरक्षा के प्रयास से गुमशुदा नाबालिक बच्ची मिली अपने परिजनों से

घनश्याम पांडे/विनित शर्मा (संवाददाता)

-प्रेस क्लब डाला के लोगों के तत्परता की वजह से हो सका संभव


चोपन। बीते 30 जुलाई 2020 को लगभग 11 बजे डाला के प्रेस क्लब सदस्यों के द्वारा सावित्री देवी महिला सुरक्षा एवं जन सेवा ट्रस्ट को जानकारी दिया गया की एक नाबालिक बच्ची अपने घर से अपने माता पिता से नाराज होकर गुस्से में चूड़ी गली डाला में वाराणसी से आयी है।कुछ समय में सावित्री देवी मौके पर पहुच इस सम्बंध मे फौरन अपर जिलाधिकारी सोनभद्र,जिला प्रोबेशन अधिकारी अमरेंद्र प्रोत्सायन को दिया गया जिन्होंने फौरन मुख्यालय द्वारा चौकी इंचार्ज को यह पूरे मामले की सूचना दिया गया। कुछ समय मे जिस जगह लड़की उपस्थित थी वहां पुलिस पहुची उसके बाद उसको अपने साथ लेकर डाला चौकी गयी जहां पूछताछ पर पता चला कि लड़की की गुमसुदगी की रिपोर्ट बड़ेगाव थाने में इसके परिजनों द्वारा दर्ज करवाया गया है।

इस बच्ची के बारे में उनको बताया गया।डाला में महिला कांस्टेबल न होने की वजह से लड़की को चौकी इंचार्ज के साथ उनके गाड़ी से थाना चोपन में लाया गया जहा कुछ समय मे मुख्यालय द्वारा महिला शक्ति केंद्र से महिला कल्याण अधिकारी नीतू यति सिंह, जिला समन्वय सीमा द्विवेदी और साधना मिश्रा चोपन थाने पहुच पूरे मामले की जानकारी ली बच्ची से काफी पूछने के बाद अपने पूरी बात बताई।उसके बाद परिजनों को जल्द से जल्द पुलिस के साथ चोपन थाने आने को कहा गया।

कुछ घंटों बाद रात लगभग 9:40 पर बड़ेगाव के थाने की पुलिस परिजनों को लेकर चोपन आयी जहां बच्ची को काफी समझा बुझा कर परिवार माता पिता के डाट फटकार से गुस्सा न होने की बात कहते हुये उसको चोपन थाने से पुलिस व परिजनों को सुपुर्द किया गया।जिससे की उनके परिवारजन ने सावित्री देवी को धन्यवाद दिया और कहा आज मेरी बिटिया सुरक्षित जो प्राप्त हुई आप सभी की वजह।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!