वन विभाग ने तैयार कर ली माफियाओं की सूची, जल्द एक्शन में आ सकता है प्रशासन

घनश्याम पांडेय के साथ आनन्द कुमार चौबे की रिपोर्ट

सोनभद्र । सोनभद्र, एक ऐसा जनपद, जो कभी नक्सल के लिए तो कभी भ्रष्टाचार के लिए तो कभी अवैध खनन के लिए अक्सर चर्चा में रहा करता है। चार राज्यों से घिरे जनपद सोनभद्र में खनिज संपदा का अपार भंडार है, मगर कुछ वर्षों से खनन पर ग्रहण लगा हुआ है। कभी टेंडर के बाद व्यापारी साइड छोड़कर चला जाता है तो कभी सरकार की नीति की वजह से खनन में रुकावट है लेकिन इस बीच बालू हो या फिर पत्थर खनन, अवैध खनन कभी नहीं रुका। खनन माफियाओं के आगे प्रशासन भी पस्त नजर आने लगी थी। कुछ स्थानों पर खनन माफिया स्थानीय प्रशासन को मिलाकर काम किया करते थे लेकिन जब कभी ऊपरी दबाव के कारण स्थानीय प्रशासन कार्यवाही करते थे तो वही खनन माफिया उनके लिए भस्मासुर बन जाते थे।
11 जुलाई की रात चोपन क्षेत्र के पटवध के पास चेकिंग पर गए वन कर्मियों पर खनन माफियाओं ने हमला बोल दिया था। जिसके बाद वन विभाग एक्शन में आया और मुकदमा करा दिया। मुकदमा के बाद सभी आरोपी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। लेकिन इस घटना ने प्रशासनिक अधिकारियों की चिंताएं बढा दी थी। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक ने सभी माफियाओं की सूची बनाने को कहा। ओबरा वन प्रभाग के एक वन अधिकारी ने बताया कि अवैध खनन से लेकर लकड़ी के तस्कर तक के अपराधियों की सूची तैयार हो गयी है। उन्होंने बताया कि ओबरा वन प्रभाग के जितने भी बीट हैं सभी से जानकारी लेकर सूची तैयार की गई है। उन्होंने माना कि इन दिनों अवैध खनन कम हो रहा है और आने वाले समय में माफियाओं की लिस्ट जारी होते ही माफिया खुद स्थान और काम छोड़कर चले जायेंगे।
उन्होंने बताया कि अब तक अवैध काम करने वाले जितने भी आरोपी रहें हैं सभी का रिकार्ड खंगाला गया है। जिसके आधार पर माफियाओं की सूची तैयार की गई।

आपको बता दें कि यूपी में सीएम योगी के आदेश पर ऑपरेशन क्लीन चलाया जा रहा है। ऐसे में सोनभद्र में जिस तरह से नए उम्र के युवक गलत दिशा में एंट्री कर रहे हैं, उन्हें रोकने के लिए जनपद प्रशासन का यह कदम अच्छा है। ताकि हर अधिकारी व कर्मचारी पूरी निडरता के साथ न सिर्फ अपना काम कर सके बल्कि अवैध खनन से प्रतिदिन सरकार होने वाले राजस्व के नुकसान से भी बचा जा सकेगा।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!