रुपये के लालच में और पहचान छुपाने के लिए की गई हत्या, 1करोड़ की फिरौती

गोरखपुर में मासूम के अपहरण के बाद हत्या के मामले में एसएसपी सुनील गुप्ता ने प्रेस वार्ता कर बताया कि अपहरणकर्ताओं ने पैसे के लालच में और पहचान छुपाने के लिए हत्या कर दी अपहरणकर्ता बलराम के घर के आसपास के ही रहने वाले है उनको डर था कि घर वाले उन्हें पहचान लेंगे।एसएसपी ने बताया कि कल एक बच्चे के गुम होने की सूचना प्राप्त हुई थी परिवार वालों ने बताया कि एक कॉल आई है जिसमें फिरौती की मांग की गई पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज करके तुरंत कार्रवाई शुरू कर दी क्राइम ब्रांच टीम के सहयोग लेकर जिन नंबरों से कॉल आई थी उनका लगातार मॉनिटरिंग करके अभियुक्तों को उठाया गया जिसमें दयानंद ने बताया बलिराम की लाश फला जगह फेंकी गई है।अजय गुप्ता और दयानंद समेंत कुल पांच अपहरणकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है प्रथम दृष्टया देखने पर लगता है कि गले को कस के मारा गया है बाकी पोस्टमार्टम में क्लियर हो जाएगा लेकिन प्रथम दृष्टया यही दिख रहा है कि गले को कसके मासूम को मारा गया है।2 मुल्जिमों का नाम और प्रकाश में आ रहा है उनकी भी सरगर्मी से तलाश की जा रही है।

एसएसपी ने एक सवाल के जवाब में बताया कि पैसे के लालच में और पहचान छुपाने के लिए उन्होंने हत्या की क्योंकि बलिराम इन लोगों को पहचानता था यह लोग बलिराम के घर के आसपास के ही रहने वाले थे।

सीएम ने लिया सज्ञान

मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में अपहृत बालक की मृत्यु की घटना में अपराधियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने अपराधियों के विरुद्ध NSA लगाए जाने पर विचार करने तथा प्रकरण में पुलिस की जवाबदेही निर्धारित करने के भी निर्देश दिए हैं।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!