खबर के बाद जागा प्रशासन, लल्लन मल्लाह के घर पहुंचा प्रशासन, उठी जांच की मांग

अंशु खत्री के साथ आनंद चौबे (संवाददाता)

चुर्क । वार्ड नबंर 3 के निवासी लल्लन मल्लाह को आवास क्यों नहीं मिला, यह सवाल अब चुर्क में हर कोई पूछने लगा है । जनपद न्यूज Live के खबर के बाद आज क्षेत्रीय लेखपाल लल्लन के घर पहुंचा और उसे टूटे कच्चे घर को देखकर अपनी रिपोर्ट प्रशासन को सौंप दी ।
क्षेत्रीय लेखपाल प्रवीण कुमार यादव ने भी माना कि लल्लन पुत्र स्व. सत्यनारायण निवासी वार्ड नम्बर-3 आर्थिक रूप से काफी गरीब है और आर्थिक सहायता पाने हेतु पात्र है। शायद लेखपाल के रिपोर्ट से गरीब लल्लन के परिवार को कच्चा मकान गिर जाने का मुवावजा भी मिल जाय लेकिन बड़ा सवाल यह है कि आखिर लल्लन का परिवार आवास के लिए कई बार फार्म भरा तो मिला क्यों नहीं । जबकि उसी नगर में पक्के आवास वालों को रेवड़ी की तरह आवास बांटा गया ।

पीड़ित लल्लन मल्लाह ने सबसे पहले जनपद न्यूज का धन्यावद किया । उसने बताया कि आज अधिशासी अधिकारी और क्षेत्रीय लेखपाल आए थे फोटो खींचे और कहे की जल्द से जल्द आपको मुआवजा दिलवाया जाएगा ।आवास के लिए ईओ आधार कार्ड की फोटो काफी ले गए हैं ।
सूत्रों की माने तो इसके बाद नगर के ईओ लल्लन की फाइल ढूढने में परेशान रहे ।
उधर भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष धर्मवीर तिवारी ने खबर को सज्ञान में लिया और डूडा के अधिकारी से फोन पर बात की । धर्मवीर तिवारी ने कहा कि सरकार गरीबों के लिए लगातार काम कर रही है लेकिन अधिकारियों की लापरवाही के कारण सरकार बदनाम होती है । उन्होंने इस मामले की जांच की मांग भी की है ताकि यह पता चल सके कि आखिर किसने पीड़ित से पैसे की डिमांड की थी और वह पात्र होते हुए भी उसे आवास क्यों नहीं मिला ।
वहीं सपा के जिला महासचिव सईद कुरैशी ने इस घटना को दुःखद बताते हुए कहा कि इस सरकार में भ्रष्टाचार चरम पर है । उन्होंने कहा कि लल्लन का परिवार वर्षों से कच्चे मकान में रह रहा है लेकिन महल वालों को आज तक नहीं दिखा । उन्होंने कहा कि लल्लन के मुताबिक उससे लगभग 15 हजार मांगा गया था जिसके न दे पाने की वजह से उसे आवास से महरूम रहना पड़ा । उन्होंने कहा कि यदि हादसा होता तो प्रशासनिक अमले को जबाब देते नहीं बनता।

बहरहाल खबर के बाद आज जहां हुक्मरानों की नींद टूटी है। वहीं स्थानीय लोग अब जांच की मांग करने लगे हैं । बताया जा रहा है कि यदि चुर्क नगर पंचायत के आवास की जांच हुई तो कईयों के चेहरे बेनकाब हो सकते हैं ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!