साहित्यकार कल्याण कोष योजना व प्रकाशन अनुदान के लिए साहित्यकारों से प्रस्ताव आमंत्रित

आनंद चौबे (संवाददाता)

जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने जानकारी देते हुए बताया कि उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान के निदेशक श्रीकान्त मिश्रा ने साहित्यकार कल्याण कोष योजना व प्रकाशन अनुदान के तहत प्रदेश के साहित्यकारों से प्रस्ताव आमंत्रित किया है। जिलाधिकारी ने बताया कि पात्र व इच्छुक साहित्यकार अपने प्रस्ताव नियमानुसार 05 सितम्बर, 2020 तक निर्धारित प्रारूप में निदेशक उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान राजर्षि पुरूषोत्तम दास टण्डन हिन्दी भवन-6 महात्मा गॉधी रोड हजरतगंज लखनऊ को सीधे भेज सकते हैं। उन्होंने बताया कि प्रार्थना-पत्र का निर्धारित प्रारूप हिन्दी संस्थान के वेबसाइट www.uphindisansthan.in पर भी उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि साहित्य कल्याण कोष योजना के तहत विषम आर्थिक स्थितिग्रस्त या रूग्ण साहित्यकारों को जिनकी सालाना आमदनी 5 लाख रूपया तक है, उन्हें अधिकतम 50 हजार रूपये तक का अनावर्तक चिकित्सा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए प्रस्ताव आमंत्रित किये गये हैं। इसी प्रकार से प्रकाशन अनुदान के तहत ऐसे रचनाकारों को जिनकी वार्षिक आय 5 लाख रूपये तक है, उनकी पाण्डुलिपि के मुद्रण के लिए प्रस्ताव आमंत्रित किये गये हैं। विस्तृत जानकारी उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान के वेबसाइट पर प्राप्त की जा सकती है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!