रिलायंस फाउंडेशन बना पशुपालक किसानों के लिए वरदान

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । रॉबर्ट्सगंज विकास खण्ड अन्तर्गत बेलकप गाँव निवासी कमलापति एक साधारण प्रगतिशील किसान हैं जिनकी आजीविका का मुख्य साधन खेती और पशुपालन है। उन्होंने बताया कि वह एक महीने से अपनी जर्सी गाय के पतला गोबर करने की समस्या से काफी परेशान थे जिसके कारण उनकी गाय बहुत कमजोर हो गयी थी। उनकी गाय पहले की तुलना में बहुत ही कम दूध यानि लगभग आधा देने लगी थी जिससे उनको काफी नुकसान हो रहा था। उन्होंने अपनी गाय का घरेलू उपचार भी किया पर उन उपायों का बहुत अच्छा लाभ नहीं मिला। उनकी समस्या यथावत बनी रही। तब उन्होंने संस्था के प्रतिनिधि द्वारा दिये गए रिलायंस फ़ाउंडेशन के हेल्पलाइन नंबर 1800-419-8800 पर फोन किया और अपनी पूरी समस्या डॉ0 कृपाशंकर सिंह को बतायी। तब डॉ0 कृपा शंकर ने उनको मार्कोजिल एलएम दवा दो-दो गोली सुबह शाम तीन दिन गाय को देने के लिए बोला और साथ ही साथ चारे में चोकर, चूनी, खली व राशन की मात्रा बढ़ाकर खिलाने की सलाह दी लेकिन डॉ0 कृपा शंकर ने सबसे पहले मार्कोजिल एलएम दवा तीन दिन देने के लिए बताया। उसके बाद ही राशन बढ़ाने के लिए कहा जिससे पहले गाय के पतले गोबर की समस्या दूर हो जाए।
उन्होंने डॉक्टर के परामर्श अनुसार गाय को दवा दी और जब पतले गोबर की समस्या दूर हो गयी तब वह राशन की मात्रा बढ़ाकर गाय को देने लगे जिससे गाय का स्वास्थ्य काफी अच्छा हो गया और उसका दूध साढ़े सात लीटर से बढ़कर तेरह लीटर हो गया। इस तरह उनको साढ़े पाँच लीटर दूध का अतिरिक्त फायदा हुआ जिससे उनको प्रतिदिन 35 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से 193 रुपए यानि 1351 रुपए साप्ताहिक फायदा होने लगा। उन्होंने बताया कि रिलायंस फ़ाउंडेशन का टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर सभी किसान भाइयों के लिए वरदान है। वह रिलायंस फ़ाउंडेशन को बहुत बहुत धन्यवाद देते हैं और अपनी कृषि और पशुपालन से संबन्धित किसी भी समस्या के लिए रिलायंस फ़ाउंडेशन के टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1800-419-8800 से जानकारी प्राप्त करते हैं। वह बताते हैं कि यह नंबर किसान भाइयों के लिए एक सच्चे साथी की तरह मदद कर रहा है और मिनटों के अंदर ही बिना एक पैसा खर्च किए विशेषज्ञ के माध्यम से सही जानकारी प्राप्त हो जाती है। वह इस तरह के नेक कार्य के लिए संस्था को बहुत बहुत धन्यवाद देते हैं जो कि किसानों की आय को बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास कर रही है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!