अमरनाथ श्राइन बोर्ड का फैसला, इस साल होने वाली अमरनाथ यात्रा रद्द

इस साल होने वाली अमरनाथ यात्रा को रद्द कर दिया गया है । अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने इसकी घोषणा कर दी है । कोरोना वायरस के कारण यात्रा को रद्द करने का फैसला लिया गया है । अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने कहा कि मौजूदा हालात को देखते हुए बोर्ड ने फैसला लिया है कि इस वर्ष की अमरनाथ यात्रा का संचालन करना उचित नहीं है ।यात्रा को रद्द करने की घोषणा की जा रही है ।

बता दें कि इससे पहले अमरनाथ यात्रा 23 जून और उसके बाद 21 जुलाई से शुरू होने की बात कही गई थी, लेकिन अब यात्रा को रद्द करने का औपचारिक ऐलान हो चुका है । इससे पहले यात्रा पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका भी दायर की गई थी ।

याचिका अमरनाथ बर्फानी लंगर संगठन ने दायर की थी, जिसमें कहा गया था कि अमरनाथ यात्रा में सालाना 10 लाख से ज्यादा भक्त पहुंचते हैं । इतनी संख्या में लोगों के आने से कोरोना फैलने का खतरा बना रहेगा ।

अमरनाथ श्राइन बोर्ड के अध्यक्ष लेफ्टिनेंट गवर्नर गिरीश चंद्र मुर्मू ने मंगलवार को बोर्ड की 39वीं बैठक की अध्यक्षता की । बोर्ड के सदस्यों ने यात्रा के संचालन पर चर्चा करने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लिया। श्राइन बोर्ड ने कहा कि हम लाखों भक्तों की भावनाओं के बारे में जानते हैं और उनका सम्मान करते हैं । बोर्ड सुबह और शाम की आरती का लाइव टेलीकास्ट जारी रखेगा । इसके अलावा पारंपरिक अनुष्ठानों को भी पहले की तरह जारी रखा जाएगा ।

बता दें कि अमरनाथ यात्रा शुरू करने को लेकर जोर-शोर से तैयारियां चल रही थीं । सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जा रहे थे ।खबरें ये भी थीं कि इस बार सिर्फ बालटाल रूट से अमरनाथ यात्रा कराने की योजना बनाई जा रही है। हेलीकॉप्टर से यात्रा पर भी विचार किया जा रहा है ।

बता दें कि अमरनाथ यात्रा का संचालन अमरनाथ श्राइन बोर्ड करता है । बोर्ड जून-जुलाई में होने वाली इस यात्रा को लेकर जनवरी से ही तैयारियों में जुट जाता है । हर साल यात्रा शुरू होने से पहले राज्यपाल बाबा बर्फानी की प्रथम पूजा करते हैं। छड़ी मुबारक के साथ इस यात्रा का आगाज होता है ।

वहीं, अमरनाथ यात्रा के 21 जुलाई से शुरू होने की बात भी सामने आ रही थी । बताया गया कि सिर्फ 10,000 श्रद्धालुओं को यात्रा करने की इजाजत मिलेगी ।इस बार सिर्फ बालटाल रुट से अमरनाथ यात्रा होगी. एक दिन में गुफा तक 500 श्रद्धालुओं को ही जाने की इजाजत मिलेगी । बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को पहले कोरोना की जांच करानी होगी ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!