मुख्य अभियन्ता ने किया कनहर परियोजना का दौरा, पीचिंग कार्य देख भड़के

राजा (संवाददाता)

◆ परियोजना निमार्ण में नहीं है धन अभाव- मुख्य अभियंता

◆ 2021 तक मुख्य बांध निर्माण कार्य पूर्ण होगा

अमवार । बहुप्रतिक्षित कनहर सिचाई परियोजना अमवार में आज मंगलवार दोपहर मुख्य अभियन्ता धर प्रसाद अधीक्षण अभियंता दीपक कुमार व सीमांत अग्रवाल के साथ दौरा किया। सर्व प्रथम फील्ड हॉस्टल पहुँचे । मुख्य अभियन्ता ने सभी खंड के अभियंताओं से परिचय करते हुए उनके खंड में हो रहे कार्यो की प्रगति रिपोर्ट जानी । उसके बाद कनहर सिंचाई परियाजना के फिल्डहास्टल में रखे मॉडल के माध्यम से पूरे परियोजना के डूब क्षेत्र व नहर की जानकारी ली । इसके पश्चात खण्ड 4 व 5 से कराये जा रहें कच्ची बांध पर पिचिंग कार्य को देखने मौके पर पहुँचे। ड्राइंग के माध्यम से कच्ची बांध की बनावट को समझते हुए कच्ची बांध पर हो रहें पिचिंग कार्य का निरीक्षण किया । निरीक्षण के क्रम में बांध के फिनिशिंग को देखकर उन्होंने नाराजगी जताई । उन्होंने कहा कि पत्थरों को सही से फिक्सिंग करें व बोल्डर के जॉइंट को अच्छे से भरें । जिससे लगाए गए पत्थरों में मूवमेन्ट ना रहें। इस दौरान उन्होंने पिचिंग बांध पर बने पार्टीशन वाल की मेज़रमेंट कराया और सही माप की जानकारी ली। बांध के पिचिंग कार्य में स्लोप में लहरों को ठीक कराने का निर्देश खंड 5 के अधिशासी अभियंता सत्य प्रकाश चौधरी व सहायक अभियंता त्रिलोकी झा को दिया । निरीक्षण के दौरान मुख्य अभियंता ने पिचिंग कार्य में लगे पत्थरों में जहां तहां लगे वेदर स्टोन को देखकर भड़क गए । उन्होंने जल्द से जल्द वेदर स्टोन को हटाने का निर्देश दिया।बांध के अंतिम छोर के पिचिंग में निचली सतह पर स्लिपर वाल बनाने को निर्देशित किये। निरीक्षण के बाद वे वापस फील्ड हॉस्टल पहुँचे । मुख्य अभियंता ने स्क्रीन के माध्यम से हो रहे विभिन्न निर्माण कार्यों की जानकारी ली। बाद में वे पैदल कनहर नदी पार कर स्पिलवे निर्माण स्थल पहुँचे, जहां मुख्य अभियन्ता ने स्पिलवे का मुआयना कर आवश्यक दिशा निर्देश दिया।


मुख्य अभियन्ता ने पत्रकार वार्ता में बताया कि मुख्य बांध व रॉक फील का काम मार्च 2021 तक पूरा हो जाएगा । उन्होंने बताया कि बांध के बजट में कोई कमी नही है । अक्टूबर से निर्माण का कार्य युद्धस्तर पर शुरू हो जाएगा। बताया कि टनल के फेज 1 में वन विभाग की क्लियरेंस मिल गया है, जल्द इसका कार्य शुरू होगा । एक्वाडक्ट निर्माण में हाइवे, रेलवे व किसानों की भूमि अधिग्रहण की पेच भी दूर की जा रहीं है, इसके लिए विभाग युद्धस्तर पर लगा है। अगले मानसून से पहले डूब क्षेत्र के विस्थापितों को हटाया जाएगा क्योंकि अगले वर्ष बांध में पानी भरने लगेगा।

इस मौके पर अधिशासी अभियंता विनय कुमार, मोइनुद्दीन, सत्यप्रकाश चौधरी, सहायक अभिंयता संजय गुप्ता, रवि श्रीवास्तव, सियाराम, राजकुमार जायसवाल, ऋतु सोनी, नरसिम्हा, अवर अभियंता डीके कौशिक, राजेश कुमार वहीं एचईएस के ए. राजन, डीजीएम वर्मा, सत्यनारायण राजू सहित अरूण कंस्ट्रक्शन के संजय शर्मा मौजूद रहें।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!