रेलवे पुलिया की शटरिंग गिरने से एक मजदूर की मौत, दो घायल

कृपा शंकर पांडेय (संवाददाता)

ओबरा । ग्राम पंचायत पनारी के कड़िया टोले में उस समय हड़कम्प मच गया जब पूर्व मध्य रेलवे के धनबाद मंडल अंतर्गत गढ़वा से सिगरौली के बीच चल रहे दोहरीकरण में बन रही पुलिया की शटरिग के गिरने से एक मजदूर की मौत हो गई । इस घटना में शटरिग के बीच दबे दो मजदूरों को काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया । घटना की जानकारी प्रशासन को हुई तो प्रशासनिक अमले में भी हड़कम्प मच गया और आनन-फानन में पुलिस-प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंच गए । मजे की बात यह रही कि घटना के कई घंटों बाद भी रेलवे का कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा था।

मिली जानकारी के अनुसार ओबरा डैम-फफराकुंड रेलवे स्टेशन के बीच दोहरीकरण के दौरान कड़िया नाले पर बन रही रेलवे की पुलिया के लिए करीब 40 फीट ऊंची शटरिग का काम चल रहा था। शनिवार दोपहर शटरिग अचानक ढह गया । घटना के वक्त मौके पर दर्जन भर से ज्यादा मजदूर काम कर रहे थे। शटरिग गिरते ही मौके पर अफरा-तफरी मच गया और ज्यादातर मजदूर भाग निकले । लेकिन तीन मजदूर शटरिग के नीचे दब गए। शटरिग के नीचे दबने से राजू खरवार (22) पुत्र अमितलाल खरवार निवासी टोला बहरा, पनारी की मौके पर ही मौत हो गई। इसके अलावा बहरा निवासी विनय (19) और सुरेंद्र (20) घायल हो गए । घटना के बाद काम करा रहे कार्यदायी संस्था के लोग भी मौके से फरार हो गए। स्थानीय मजदूरों ने घटना की सूचना ओबरा पुलिस को दी। इसके बाद मौके पर पहुंचे ओबरा थाना प्रभारी शैलेश कुमार राय ने राहत कार्य तेज कराया और काफी मशक्कत के बाद सरिया के नीचे दबे मजदूरों को बाहर निकाला । इस दौरान मौके पर पहुंचे परिजनों सहित गांव के लोग मौजूद रहे ।

मृतक राजू खरवार के परिजनों ने मुआवजे की मांग को लेकर शव को उठने नहीं दिया। काफी देर तक प्रशासनिक अधिकारियों और परिजनों के बीच बातचीत जारी रही । इस मौके पर एडीएम योगेंद्र बहादुर सिंह, एएसपी ओपी सिंह, एसडीएम सदर यमुनाधर चौहान एवं ओबरा सीओ भास्कर वर्मा के साथ कई थाने की पुलिस मौजूद थी ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!