शासन के पत्र से शिक्षको में निराशा-ड़ा0 कृष्णकांत

अनिता अग्रहरी (संवाददाता)

धीना। उत्तर प्रदेश सीनियर बेसिक शिक्षक संघ जिला ईकाई की बैठक शनिवार को सर्वोदय इंटर कालेज अरंगी में सम्पन्न हुई।इसमें शिक्षकों ने सामाजिक दूरी बनाते हुए बैठक में अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार के पत्र में आगामी 5 सालों में प्रदेश के एक भी स्थायी मान्यता प्राप्त असहायिक जूनियर हाईस्कूलो को अनुदान सूची में शामिल नहीं करने के निर्देश पर शिक्षकों ने नाराजगी जताई।जिलाध्यक्ष ड़ा0 कृष्णकांत तिवारी ने कहा कि स्थायी मान्यता प्राप्त गैर अनुदानित विद्यालयों के शिक्षक कर्मचारी इस उम्मीद में थे कि विधानसभा चुनाव से पूर्व सरकार विद्यालयों को अनुदानित करेगी।लेकिन उपरोक्त शासनादेश से शिक्षकों की भावनाओ पर कुठाराघात किया गया है।विद्यालयों में कार्यरत कई शिक्षक कर्मचारी सेवानिवृत्त होने के कगार पर पहुंच गए है।यह शासनादेश बेसिक शिक्षा नियमावली 1978 का उल्लंघन है।सरकार अनुदानित विद्यालयों के प्रति पक्षपात रवैया अपना रहा है।इन विद्यालयों को शासन द्वारा मिलने वाली क्षतिपूर्ति अनुदान, त्रिभाषा अनुदान पूर्व से ही बन्द किया जा चुका है।इस मौके पर बिनोद कुमार सिंह, मंजय सिंह यादव, अनिल यादव, इंद्रजीत शर्मा, गिरिराज द्विवेदी, जनार्दन सिंह आदि रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!