लॉकडाउन में बंद रहीं दुकानें मगर सुनसान रास्तों पर फर्राटा भरते नजर आए खनन की गाड़ियां

सुरेश श्रीवास्तव (संवाददाता)

खुटार । कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए सीएम योगी के निर्देशन पर शनिवार- रविवार को बाजार बंदी के निर्णय के बाद खुटार में मेडिकल संबंधी दुकानों को छोड़कर सभी दुकाने बंद नजर आई। लेकिन आवश्यक वस्तुओं की सचल दुकानों के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति होती रही ।खास बात यह है कि खुटार में बंदी के बावजूद भी अवैध खनन जारी रहा । बगैर रोक-टोक के सड़कों पर मिट्टी भरे डंपर बखूबी रफ्तार में दौड़ते हुए नजर आ रहे हैं ।
बताते चलें खुटार क्षेत्र के गांव महमदपुर सहजनिया से जेसीबी से मिट्टी भरकर डंपरों के माध्यम से खुटार, पुवाया, बंडा तथा जनपद खीरी के मोहम्मदी थाना क्षेत्रों में महीनों से बेची जा रही है । यह कार्य बिना रोक-टोक के लगातार जारी है । फिलहाल परमिशन होने की बात कही जा रही है । वहीं प्रबुद्ध लोगों का सवाल यह है कि मिट्टी खनन का परमिशन एक नियत स्थान से दूसरे स्थान के लिए जारी किया जाता है । विभिन्न स्थानों पर मिट्टी की बिक्री का परमिशन बने होने की बात कुछ हजम नहीं हो रही है। फिलहाल जब कार्यालय तक बंद हों तब खनन जारी रहना जिम्मेदारों की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर रहा है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!