मोस्टवांटेड विकास दुबे के एनकाउंटर में मारे जाने से शहीद दरोगा महेश यादव के परिजनों ने जताई खुशी

कानपुर देहात के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरु गांव में 2,3 जुलाई की रात हुए कांड के आरोपी विकास दुबे के आज एनकाउंटर में मारे जाने की सूचना मिलने के बाद। कांड में शहीद हुए रायबरेली के सरेनी थाना क्षेत्र के बनपुरवा गांव निवासी शहीद दरोगा महेश यादव के परिजनों ने खुशी जताई साथ ही ये मांग की कि इस मामले की जांच और गहनता से की जाए जिससे विकास को पनाह देने वाले सरंक्षण दाताओं के भी नाम सामने आए और उनपर भी सख्त कार्यवाही की जाए।

बताते चले यूपी के कानपुर देहात के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरु गांव में 2 जुलाई की रात पुलिस विकास दुबे के घर पर दबिश देने पहुची थी।लेकिन इसकी सूचना विकास को पहले ही मिल चुकी थी।उसने पुलिस टीम पर अपने साथियों के साथ घेर कर फायरिंग कर दिया।जिससे 8 पुलिस कर्मी मौके पर ही शहीद हो गए और 4 पुलिस कर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए।उसके बाद वो मौके से फरार हो गया।कल दुर्द्धान्त विकास को एमपी की पुलिस ने एमपी के उज्जैन जिले के महाकालेश्वर मंदिर के परिसर से गिरफ्तार कर लिया।शाम को उसको यूपी एसटीएफ अपनी सुपुर्दगी में लेकर कानपुर वापस आ रही थी और आज सुबह जब टीम कानपुर से कुछ दूरी पर रही तभी पुलिस की गाड़ी पलट गई और कुछ पुलिसकर्मी घायल हो गए।जिसका लाभ उठाते हुए विकास एक पुलिस वाले कि पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश करने लगा और पुलिस की गोली से घायल हो गया।जब उसे ईलाज़ के लिए अस्पताल लाया गया तो चिकित्सको ने उसे मृत घोषित कर दिया।इसकी सूचना शहीद शिवराजपुर थाना इंचार्ज महेश यादव के परिजनों को मिली तो उन्होंने इस पर अपनी खुशी और संतुष्टि जताई।साथ ही सरकार से सीबीआई जांच की मांग कि विकास को संरक्षण देने वालो की भी जांच कराई जाए और उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!