दुर्दान्त अपराधी विकास दुबे का एनकाउंटर मे हुई मौत

कानपुर |कानपुर कांड का मास्टरमाइंडर दुर्दान्त अपराधी विकास दुबे एसटीएफ के साथ एनकाउंटर में मारा गया। उज्जैन से जब यूपी एसटीएफ की टीम विकास दुबे को कानपुर ला रही थी, तब रास्ते में गाड़ी का एक्सीडेंट हो गया। इसी दौरान विकास ने जब भागने की कोशिश की, तो पुलिस और गैंगस्टर के बीच मुठभेड़ हुई। विकास दुबे की तलाश एक हफ्ते से की जा रही थी, लेकिन पुलिस की पकड़ से वो दूर ही रहा था। गुरुवार को अचानक वो उज्जैन के महाकाल मंदिर के बाहर मिला, जहां उज्जैन पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया। लेकिन गिरफ्त में आने के 24 घंटे के अंदर ही विकास दुबे के अब मारे जाने की खबर है। विकास दुबे को यूपी पुलिस हरियाणा और राजस्थान में तलाश रही थी, लेकिन वो मिला मध्य प्रदेश के उज्जैन में। गुरुवार सुबह करीब साढ़े सात बजे विकास दुबे महाकाल मंदिर पहुंचा, जहां उसने अंदर मंदिर के दर्शन किए। इसी दौरान किसी दुकानदार ने विकास दुबे को पहचाना, जिसके बाद सुरक्षाकर्मी को सूचना दी गई। इसके बाद स्थानीय पुलिस को बुलाया गया। पुलिस ने मंदिर से बाहर आने पर विकास दुबे से पूछताछ की, उसकी आईडी मांगी। लेकिन वो नहीं दे पाया। विकास दुबे ने पुलिस के साथ बहस की। इसी दौरान पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

जब गैंगस्टर को पुलिस ले जा रही थी, तब वो जोर जोर से चिल्ला रहा था कि मैं विकास दुबे हूं..कानपुर वाला। गुरुवार शाम को विकास दुबे को MP से UP लाने की प्रक्रिया शुरू हुई। यूपी एसटीएफ की टीम उसे कानपुर लेकर रवाना हुई। शुक्रवार सुबह एसटीएफ के काफिले के एक्सीडेंट की खबर आई। इसी दौरान विकास दुबे एसटीएफ से हथियार छीनकर भागने लगा और एनकाउंटर में मारा गया।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!