सड़कों पर चलना हुआ दुश्वार,हर सड़कों पर कीचड़ ही कीचड़

पी.के.विश्वकर्मा (संवाददाता)

-निर्मल गांव के नाम पर राष्ट्रपति पुरस्कार भी मिल चुका है कोन को


कोन। क्षेत्र के तेईस ग्राम पंचायतों मध्य सदर गांव माने जाने वाले कोन मे इस समय सडकों पर गंदगी व कीचड़ का अंबार लगा हुआ जिधर देखे उधर कीचड़ ही कीचड़ नजर आ रहा है। जानकारी के अनुसार कोन बाजार समेत बसस्टैंड, थाना, बैंक, अस्पताल, समेत सभी प्रतिष्ठित प्रतिष्ठानों के गली मुहल्ला के सडके गढ्ढायुक्त जर्जर कीचड़ व जलजमाव से पटा हुआ है। कोन की सडकों पर जिधर देखे किचड़ ही कीचड़ नजर आ रहा है।लोग बैंक, अस्पताल, थाने मे जाने से पहले योजना बनाते है आखिरकार किस रास्ते से जाये, सभी सड़कों पूरी तरह से किचड से पटा है, वाईक से दूर पैदल भी चलना दुश्वार हो गया है, बैंक रोड मे आयेदिन राहगीर गीरकर चोटिल हो रहे है।

बतादे कि ग्राम पंचायत कोन को 2012 मे निर्मल गांव का राष्ट्रपति पुरस्कार भी मिल चूका है लेकिन आज सडकों की स्थिति बद से बत्तर हो गयी है,सभी सडकें पीडब्ल्यूडी से बनी है जिसमें पानी कि कोई निकास न होने व गढ्ढायुक्त होने के कारण आज किचड युक्त हो गयी है।
जहां क्षेत्र के लगभग तेइस ग्राम पंचायतों के लोगों का मुख्य बाजार के साथ थाना, बैंक, अस्पताल है,क्षेत्रवासियों ने जिला प्रशासन का ध्यान इस ओर आकर्षित कराते हुये सडक मरम्मत व सफाई कराने की समुचित व्यवस्था कराने की गुहार लगाई है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!