मैं हूँ विकास दुबे कानपुर वाला…..

कानपुर हत्याकांड का मुख्य आरोपी विकास दुबे आखिरकार गिरफ्तार हो गया है । मध्य प्रदेश पुलिस ने उसे उज्जैन से गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक, उज्जैन के महाकाल मंदिर में वो संरेंडर करना चाहता था, लेकिन पहले ही पुलिस को जानकारी दे दी गई । महाकाल मंदिर के सिक्योरिटी गार्ड ने ही पुलिस को जानकारी दी थी । करीब 10 राज्यों की पुलिस विकास की तलाश में लगी थी । विकास दुबे के शातिर दिमाग का ही खेल है कि गिरफ्तारी के बाद वह चिल्ला – चिल्ला कर यह कहता सुना गया कि मैं विकास दुबे कानपुर वाला, मुझे गिरफ्तार किया गया है । इससे यह साफ है कि विकास यह बताने की कोशिश कर रहा था कि पुलिस उसे सशरीर गिरफ्तार कर रही है । क्योंकि जिस तरह से यूपी में विकास के साथियों का लगातार इनकाउंटर हो रहा है उससे विकास डर गया होगा कि कहीं उसका भी पुलिस इनकाउंटर न कर दे । इसलिए वह सभी को बता रहा था कि उसकी गिरफ्तारी हो रही है । निश्चित तौर पर इसके गिरफ्तारी के पीछे काफी दिमाग लगा है क्योंकि ऐसे जगह व समय का चयन किया गया जब मन्दिर में भीड़ रहती है । फिलहाल मध्य प्रदेश सरकार के गृह मंत्री भी इस गिरफ्तारी से काफी खुश नजर आए और उन्होंने यहां तक कह दिया कि यह मध्य प्रदेश की पुलिस है, किसी को छोड़ती नहीं ।आपको बतादें कि उत्तर प्रदेश के कानपुर में दबिश देने गई पुलिस टीम पर हमला कर आठ पुलिसकर्मियों को शहीद करने वाले हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का जघन्य आपराधिक इतिहास रहा है । बचपन से ही वह अपराध की दुनिया में अपना नाम बनाना चाहता था । पहले उसने गैंग बनाया और लूट, डकैती, हत्याएं करने लगा । 19 साल पहले उसने थाने में घुसकर एक दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री की हत्या की और इसके बाद उसने राजनीति में एंट्री लेने की कोशिश की थी । लेकिन, तब तक बहुत देर हो चुकी थी । विकास कई बार गिरफ्तार हुआ, एक बार तो लखनऊ में एसटीएफ ने उसे दबोचा था ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!