वन महोत्सव कार्यक्रम में ओबरा विधायक ने किया पौधरोपण, दिया सन्देश

संजय केसरी (संवाददाता)

डाला । हमारे देश भारत की संस्कृति एवं सभ्यता वनों में ही पल्लवित तथा विकसित हुई है यह एक तरह से मानव का जीवन सहचर है वृक्षारोपण से प्रकृति का संतुलन बना रहता है वृक्ष अगर ना हो तो सरोवर (नदियां ) में ना ही जल से भरी रहेंगी और ना ही सरिता ही कल कल ध्वनि से प्रभावित होंगी वृक्षों की जड़ों से वर्षा ऋतु का जल धरती के अंक में पोहचता है, यही जल स्त्रोतों में गमन करके हमें अपर जल राशि प्रदान करता है वृक्षारोपण मानव समाज का सांस्कृतिक दायित्व भी है, क्योंकि वृक्षारोपण हमारे जीवन को सुखी संतुलित बनाए रखता है। वृक्षारोपण हमारे जीवन में राहत और सुखचैन प्रदान करता है।

“वृक्षारोपण से ही पृथ्वी पर सुखचैन है
इसे लगाओ जीवन का एक महत्वपूर्ण संदेश है.”

कोविड-19 व पर्यावरण के अंतर्गत पूरे प्रदेश में वन महोत्सव कार्यक्र्म 01 जुलाई से 07 जुलाई अभियान चलाया जाएगा जिसमें पूरे डाला रेंज के बीट में 280 500 पौधों को लगाने का लक्ष्य हैं। आज ओबरा वन प्रभाग के अंतर्गत डाला वन रेंज के डाला 8अ में वन महोत्सव कार्यक्रम में मुख्य अतिथि ओबरा विधायक संजीव गोड़ एवं विशिष्ट अतिथि ओबरा वन प्रभाग के प्रभागीय वनाधिकारी प्रखर मिश्रा ने पौधा लगाकर किया उद्घाटन जिसमें 11000 पौधों के वृक्षारोपण के लिए श्रमिकों/कामगारों को कार्य में शामिल किए गए। मौके पर वन क्षेत्राधिकारी अनिल सिंह , वन दरोगा रमापति दुबे,दिनेश यादव, इंदल मार्या,राम नगीना यादव व स्थानीय लोग मौजूद रहे ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!