धर्म चक्र दिवस पर बोले- भगवान बुद्ध का अष्टांग मार्ग समाज और राष्ट्रों की कुशलक्षेम की तरफ का रास्ता दिखाता है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धर्म चक्र दिवस पर अंतरराष्ट्रीय बौद्ध परिसंघ (आईबीसी) द्वारा आयोजित कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया । पीएम मोदी ने कहा कि आज जब विश्व असाधारण चुनौतियों से निपट रहा है तो इनका स्थायी समाधान भगवान बुद्ध के आदर्शों से मिल सकता है। मोदी ने यहां ‘धर्म चक्र’ दिवस समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि भगवान बुद्ध का अष्टांग मार्ग समाज और राष्ट्रों की कुशलक्षेम की तरफ का रास्ता दिखाता है ।

पीएम मोदी ने कहा कि यह करुणा और दया की महत्ता को उजागर करता है । भगवान बुद्ध के उपदेश ‘विचार और कार्य’ दोनों में सरलता की सीख देते हैं ।उन्होंने कहा, ‘‘आज विश्व असाधारण चुनौतियों से निपट रहा है । इन चुनौतियों का स्थायी समाधान भगवान बुद्ध के आदर्शों से मिल सकता है । ये पूर्व में भी प्रासंगिक थे । ये वर्तमान में भी प्रासंगिक हैं और ये भविष्य में भी प्रासंगिक रहेंगे ।’’

पीएम मोदी ने कहा कि कुछ दिन पहले ही कैबिनेट ने कुशीनगर एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनाने का फैसला किया । ताकि देश-विदेश के लोग, बौद्द धर्म के अनुयायी आसानी से वहां पहुंच पाएं । उन्होंने कहा कि कहा कि भारत देश अब बौद्ध स्थलों से संपर्क पर अपना ध्यान केंद्रित करना चाहता है ।

इस दिन को दुनिया भर के बौद्धों द्वारा धर्म चक्र परवत्तन या “धर्म के चक्र की ओर मुड़ने” के दिन के रूप में भी मनाया जाता है. इस दिन को गुरु पूर्णिमा के रूप में बौद्धों और हिंदुओं दोनों द्वारा अपने गुरुओं के प्रति श्रद्धा के प्रतीक के रूप में भी मनाया जाता है. आज ही के दिन भगवान बुद्ध ने अपने 5 शिष्यों को दीक्षा दी थी ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!