बिहार में एनडीए और महागठबंधन को टक्कर देने के लिए अब तीसरा मोर्चा तैयार

बिहार में साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में एनडीए और महागठबंधन को टक्कर देने के लिए अब तीसरा मोर्चा भी तैयार हो गया है । बिहार चुनाव में तीसरे मोर्चे का नेतृत्व बीजेपी के पूर्व नेता और वाजपेयी सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे यशवंत सिन्हा कर रहे हैं । इसी कड़ी में यशवंत सिन्हा ने शनिवार को पटना में एक से प्रेस वार्ता की । जिसमें उन्होंने तीसरा मोर्चा बनाने की घोषणा की ।यशवंत सिन्हा ने कहा कि तीसरा मोर्चा बिहार में आगामी विधानसभा का चुनाव लड़ेगा ।

यशवंत सिन्हा के तीसरे मोर्चे में पूर्व केंद्रीय मंत्री देवेंद्र यादव, पूर्व बिहार मंत्री नरेंद्र सिंह और रेनू कुशवाहा, पूर्व सांसद अरुण कुमार और नागमणि जैसे नेता शामिल हुए हैं । यानी कि तीसरे मोर्चे में शामिल अधिकतर नेता ना तो एनडीए में है और ना ही महागठबंधन में ।

पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने ऐलान करते हुए कहा, ‘आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में तीसरा मोर्चा चुनाव लड़ेगा और इसका मुख्य उद्देश्य होगा आज की मौजूदा सरकार को उखाड़ फेंकना ।’ हालांकि सिन्हा ने इस बात को लेकर खुलासा नहीं किया है कि वो खुद विधानसभा चुनाव लड़ेंगे या नहीं।

कोविड-19 महामारी के चलते चुनाव में वर्चुअल प्रचार प्रसार को लेकर भी यशवंत सिन्हा ने अपनी नाराजगी जताई । उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में परंपरागत तौर से ही प्रचार-प्रसार होना चाहिए ।

उन्होंने कहा कि वर्चुअल प्रचार-प्रसार में उस राजनीतिक दल को फायदा पहुंचेगा जिसके पास धन शक्ति है । छोटे राजनीतिक दलों को नुकसान होगा क्योंकि उनके पास पैसे का अभाव है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!