गिलोय पौधे का किया गया वितरण, गोष्ठी कर बताया गया आयुर्वेद का लाभ

अबुलकैश (डब्बल)


धानापुर। शनिवार को आयुष मंत्रालय व नेशनल मेडिसिनल प्लांट बीएचयू आयुर्वेद द्वारा ब्लाक मुख्यालय पर गिलोय पौधे का वितरण किया गया। विकास खंड खंड के 20 ग्राम को चयनित कर हर्बल खेती के माध्यम से लोगों के प्रतिरोधक क्षमता व किसानों की आय बढ़ाने की योजना बनाया गया है। कार्यालय सभागार में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। गिलोय का वितरण समन्यवक चंदौली आयुष पाठक द्वारा सभी कर्मचारियों को गिलोय का पौधा वितरित कर गिलोय के प्रति लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि इस कोरोना का अभी तक कोई उपचार या दवा नहीं तैयार हुई है। इस स्थिति में बीएचयू आयुर्वेद संस्थान ने सरकार के सहयोग से यह निर्णय लिया है कि प्रत्येक ग्राम पंचायतों में गिलोय का पौधा लगाकर लोगों के प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाया जाए जिससे लगभग 80% रोग अपने आप समाप्त हो जाएंगे। इसके लिए बकायदा बीएचयू संस्थान द्वारा निशुल्क गिलोय का पौधा ग्रामीणों का चयन कर वितरित करने का निर्णय लिया है। इसके लिए भारत सरकार ने बकायदा 4000 करोड़ का बजट भी पास कर दिया है। जिससे हर्बल खेती को बढ़ावा दिया जा सके। कुल 101 पौधे का वितरण किया गया तथा विकास खंड अधिकारी सुशील मिश्रा ने परिसर में गिलोय का पौधा रोपण किया तथा सभी ग्राम पंचायत अधिकारियों को प्रत्येक गांव में पौधे लगाने के लिए प्रोत्साहित किया।
इस अवसर पर ग्रामपंचायत अधिकारी विनय कुमार, रमेश सिंह, स्थामा, अश्वनी कुमार, विद्या देवी, विकास राजभर, महेंद्र कुमार, मनोज कुमार, इंद्रजीत, खंड समन्यवक कार्तिकेय सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!