डाक्टर आर के सिंह बने पूरनपुर के नए चिकित्सा प्रभारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत। जिला अधिकारी वैभव श्रीवास्तव के पूरनपूर सीएचसी में घायलों को देखने पहुंचने पर सीएचसी में चिकित्सा प्रभारी डाक्टर छत्रपाल गायब मिले थे इस पर डीएम ने उन्हें हटाने के आदेश सीएमओ को दिया था सीमा डॉक्टर सीमा अग्रवाल ने उनका तबादला बिलसंडा कर दिया एक साल पहले भी तबादला बिलसंडा हुआ था पर मंगलवार को रिलीव कर दिया गया। डॉक्टर छत्रपाल का तबादला को रुकवाने को लेकर काफी प्रयास कर रहे थे लेकिन डीएम वैभव श्रीवास्तव ने किसी की एक न सुनी। दो दिन से एमओआईसी विहीन सीएचसी में गुरूवार डॉ राकेश सिंह को इसकी जिम्मेदारी मिली है।मनमानी पर उतारू थे चिकित्सा प्रभारी हैरानी की बात तो यह है कि स्वास्थ्य महकमे के शीर्ष स्तर के अधिकारियों की नजर भी इस ओर नहीं जाती थी।इस तरह के हालात पूरनपुर अस्पताल के ही नहीं हैं बल्कि कई, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर डॉक्टरों के सभी नियम कानून के ऊपर हावी थे।
घायलो को डीएम पूरनपुर अस्पताल पंहुचे तो अस्पताल में गायब डॉक्टरों की पोल खुल गई। लापरवाह चिकित्सा प्रभारी का तबादला कर दिया गया। अभी भी अस्पताल में ऐसे कई डॉक्टर हैं जो लापरवाही करने में बाज नहीं आ रहे हैं।चिकित्सा प्रभारी नेताओं की छत्रछाया में रहते थे। उन्हे अधिकारी का जरा सा भी डर नहीं था।यदाकदा डॉक्टरों को अगर छोड़ दिया जाए तो इनके ओपीडी में ड्यूटी पर आने का कोई समय नहीं रहता है। सुञ बताते है विवादों में घिरे रहने बाले संविदा पर सीएचसी लगे एक लैब असिस्टेंट पर भी गिर सकती है गाज।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!