पड़री गांव से बरामद फर्नीचर की गुत्थी सुलझाने में जुटा वन विभाग, बेनकाब हो सकते हैं कई चेहरे

एस प्रसाद (संवाददाता)

-14 जून को पड़री गाँव में एक घर से भारी मात्रा में बरामद किया था फर्नीचर

– वन विभाग जल्द ही कर सकता है खुलासा

म्योरपुर । म्योरपुर वन रेंज में मुख्य वन संरक्षक लखनऊ की अवैध कटान के खुलासे के बाद रेणुकूट वन प्रभाग लगातार एक्टिव है । शुरू में अचानक स्थानीय वन विभाग की टीम को होते देख क्षेत्रीय लोगों को भी यकीन नहीं हुआ । लेकिन वन विभाग की टीम द्वारा लगातार नए-नए खुलासे से जहां वन माफिया अंडरग्राउंड हो गए वहीं ग्रामीणों में काफी खुशी थी ।

हाल ही में वन विभाग की टीम द्वारा मुखबीर की सूचना पर छापेमारी कर बनी हुई फर्नीचर के साथ बड़ी मात्रा में लकड़ी बरामद की थी । जिसके बाद पूरे क्षेत्र में हड़कम्प मच गया था । वन विभाग की टीम बरामद सभी फर्नीचर व लकड़ियों को रेंज आफिस ले आया । उसी समय से क्षेत्र में इस बात को लेकर चर्चा हो रही थी कि आखिर इतनी बड़ी संख्या में रेडीमेट फर्नीचर व लकड़ियां किसकी है । लोगों को यह समझ में नहीं आ रहा कि जब आसपास कोई दुकान नहीं तो आखिर फर्नीचर बन कैसे रहा था और किसके ऑर्डर पर काम चल रहा था ।

सूत्रों की माने तो वन विभाग इस बात का पता लगाने में जुटा है कि आखिर इतना फर्नीचर किसके आर्डर पर बना था और जो लकड़ी बरामद हुआ है वह किसके ऑर्डर का है ।
चर्चाओं की माने तो पहले भी कई अधिकारी क्षेत्र की लकड़ियों से फर्नीचर बनाकर अपनी घर की शोभा बना चुके हैं और यह भी अधिकारियों के ऑर्डर पर बन रहा था ।
बहरहाल वन विभाग इस गुत्थी को सुलझाने में जुटा हुआ है । यदि वन विभाग इस गुत्थी को सुलझाने में सफल रहा तो कईयों के चेहरे बेनकाब हो सकते हैं ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!