प्रजापिता ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा बांटा गया मास्क और साबुन

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । संयुक्त राष्ट्र संघ समेत विश्व के 140 देशों में मानवता की सेवा करने वाली ब्रह्माकुमारी संस्था की प्रथम मुख्य प्रशासिका मातेश्वरी श्री जगदम्बा ने 24 जून 1965 को अपने नश्वर देह का परित्याग करके संपूर्णता को प्राप्त किया था। मातेश्वरी जी ज्ञान, भक्ति और वैराग्य की आलौकिक चैतन्य त्रिवेणी थी, जिनके सानिध्य में आने वाला प्रत्येक व्यक्ति दिव्य आध्यात्मिक शक्तियों का सहज अनुभव करता था। उन्होंने आध्यात्मिक साधना के मार्ग को पहली बार समस्त नारी जगत के लिए खोल दिया। बताते चलें कि ब्रह्माकुमारीज आध्यात्मिक जगत में ऐसी पहली संस्था है जिसका संचालन नारियों के द्वारा किया जाता है। मातेश्वरी श्री जगदम्बा के पावन स्मृति दिवस पर विकास नगर स्थित स्थानीय सेवा केंद्र पर आज मौजूद लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मास्क, हाथ धोने के लिए साबुन तथा इम्यूनिटीवर्धक आयुर्वेदिक काढ़ा के पैकेट का वितरण किया गया साथ-साथ मानसिक शक्ति को मजबूत बनाने के लिए आध्यात्मिक टिप्स भी दिया गया।

इस दौरान स्थानीय सेवाकेंद्र की मुख्य संचालिका ब्रह्माकुमारी सुमन बहन, बी0के0प्रतिभा बहन, सीता बहन, सरोज बहन, कविता बहन, दीपशिखा बहन, हरेंद्र, गोपाल, डॉ0अनुपमा बहन, राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी स्वदीप श्रीवास्तव उर्फ लकी, राजीव शुक्ला आदि लोग मौजूद रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!