बलिदान दिवस के रूप में मनाई गई श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि

दीपक यादव (संवाददाता)

बरेली । महान शिक्षाविद, प्रखर राष्ट्रवादी विचारक और भारतीय जनसंघ के संस्थापक “डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी” की पुण्य तिथि को भारतीय जनता पार्टी ने बलिदान दिवस के रूप में बनाया।
यह कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला अध्यक्ष पवन शर्मा की अध्यक्षता में बरेली जिले के सभी मंडलो में हुआ जिसमें प्रत्येक मंडल पर डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी को भावभीनी श्रद्धांजलि व पुष्प अर्पित किये एवं जिला अध्यक्ष पवन शर्मा ने डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी के जीवन पर व उनकी राष्ट्र हित में अहम भूमिका के विषय पर विस्तृत रूप से चर्चा की। जिले के सभी पदाधिकारी व जनप्रतिनिधियों ने अपनी अपनी विधानसभा क्षेत्रों में डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी की पुण्य तिथि को बलिदान दिवस के रूप में मनाया ।
जिलाध्यक्ष पवन शर्मा ने बताया कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी के लिए सिर्फ राष्ट्र सर्वोपरि था इसीलिए उन्होंने सत्ता का त्याग कर देश की एकता और अखंडता के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया।
एक देश में दो विधान, दो प्रधान और दो निशान के विरुद्ध डॉ. मुखर्जी ने स्वतंत्र भारत का पहला राष्ट्रवादी आंदोलन छेड़ा था। भारत के पुनर्निर्माण के उद्देश्य से डॉ. मुखर्जी ने जनसंघ की स्थापना की। आज यदि हम जम्मू-कश्मीर और पश्चिम बंगाल भारत का अभिन्न अंग है तो उसके पीछे डॉ.मुखर्जी का बलिदान है। ऐसे अभिजात देशभक्त के बलिदान दिवस पर उनके चरणों में कोटि-कोटि वंदन।
इस कार्यक्रम में जिलाध्य्क्ष पवन शर्मा, विधायक बहोरन लाल मौर्य, केसर सिंह गंगवार, छत्रपाल गंगवार, डी सी वर्मा, ब्लॉक प्रमुख दुष्यंत गंगवार, जिला महामंत्री वीरपाल गंगवार, जिला उपाध्यक्ष अभय चौहान, जिला मंत्री राहुल साहू, आईटी संयोजक देवेंद्र सक्सेना आदि उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!