राष्ट्रव्यापी प्रतिवाद दिवस के तहत चकिया व नौगढ़ में घर पर धरना में उठी प्रधानमंत्री से मांग

विनोद कुमार (संवाददाता)

-मोदी सरकार बताए कि दुनिया में घट रहे दाम तो भारत में क्यों बढ़ रहे: आई पी एफ

शहाबगंज।पिछले दस दिनों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगभग नौ रूपए की वृद्धि के खिलाफ राष्ट्रव्यापी प्रतिवाद के तहत आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट, व मजदूर किसान मंच ने कार्यक्रम करते हुए केंद्र सरकार से मांग की कि वह तत्काल प्रभाव से इस मूल्य वृद्धि को वापस ले और पेट्रोलियम पदार्थों पर लगी एक्ससाइज ड्यूटी समाप्त करे। प्रतिवाद कार्यक्रम के तहत ईमेल, ट्वीटर आदि से पत्रक भेजे गए और ट्वीटर कैम्पेन भी चलाया गया।यह जानकारी प्रेस को जारी अपने बयान में आल इण्डिया पीपुल्स फ्रंट के प्रवक्ता अजय राय व मजदूर किसान मंच के संयोजक रामेश्वर प्रसाद ने लाकडाउन के नियम को पालन करते हुए अपने आवास पर धरना देते हुए कहा।उन्होेने बताया कि प्रधानमंत्री को भेजे पत्रक में कहा गया कि देश कोरोना महामारी के दौर से गुजर रहा है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार कोरोना प्रभावित लोगों की संख्या चार लाख के ऊपर पहुंच चुकी है। इस महामारी ने हजारों लोगों की जान ले ली है। देश में बड़ी संख्या में लोग रोजगार से वंचित हुए, छोटे-मझोले उद्योग और खेती किसानी जबर्दस्त संकट के दौर से गुजर रहे है। देश में रोज आत्महत्याओं की खबरें आ रही है। देश की जनता जब इन संकटकालीन परिस्थितियों से गुजर रही हो तो ऐसे समय सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल की कीमतों में की गयी यह मूल्य वृद्धि उसके जीवन को और संकट में डाल देगी। इससे महंगाई और बढ़ेगी व आम आदमी को अपनी आजीविका चलाना मुश्किल हो जायेगा। आश्चर्य इस बात का है कि जब इस समय पूरी दुनिया में कच्चे पेट्रोलियम पदार्थो के दामों में कमी हो रही हो तब देश में इसकी कीमतों में वृद्धि करने के पीछे सरकार का तर्क क्या है। साफ है कि जनता की जिदंगी की कीमत पर इस मूल्य वृद्धि से सिर्फ और सिर्फ चंद कारपोरेट घरानों और सरकार को ही बेइंतहा फायदा होगा। दारापुरी ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा की गयी मूल्यवृद्धि आपराधिक और उसको संकटकालीन परिस्थिति में जनता को राहत देने के लिए तत्काल प्रभाव से पेट्रोल और डीजल के दामों में की गयी वृद्धि को वापस लेना चाहिए और पेट्रोलियम पदार्थों पर लगी एक्ससाइज ड्यूटी को समाप्त करना चाहिए। लॉकडाउन के नियम को पालन करते हुए चकिया में अपने आवास पर आईपीएफ नेता अजय राय, नौगढ़ के भरदूआ में मजदूर किसान मंच के संयोजक रामेश्वर प्रसाद, विघावती देवी, भसौडा में रहीमुदीन, परसिया में गंगा चेरो, शिकारगंज के बलिया कला अमर बहादुर चौहान सहित कई जगह पर धरना देकर प्रतिवाद दर्ज कराया व ईमेल के माध्यम से प्रधानमंत्री जी को ज्ञापन भेजा।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!