गलवान घाटी हिंसा पर प्रियंका ने लिखा, केंद्र सरकार ने देश को अंधेरे में क्यों रखा?

लद्दाख के गलवान घाटी में चीन से हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक मारे गए । इसके बाद से ही केंद्र सरकार पर विपक्षी पार्टियां हमलावर हैं । वहीं, देश भर में चीन को लेकर लोगों के बीच गुस्सा है । लोग विरोध जताते हुए चीनी समानों का बहिष्कार कर रहे हैं ।

इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी, सरकार पर लगातार अक्रामक रुख अपनाए हुए हैं । राहुल गांधी ने बॉर्डर पर भारतीय सैनिकों के बिना हथियार होने का मुद्दा उठाया था । जिस पर सरकार की ओर से स्पष्टीकरण भी दिया गया कि गलवान में तैनात जवानों के पास हथियार थे ।

हालांकि, इस मुद्दे को राहुल गांधी ने एक बार फिर उठाया । उन्होंने एक वीडियो शेयर किया, जिसमें गलवान घाटी में चीन के साथ भिड़ंत में घायल हुए एक सैनिक के पिता कह रहे हैं कि उनके बेटे से बात हुई और उसने बताया कि उनके पास हथियार नहीं था। राहुल गांधी के शेयर इस वीडियो पर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने भी सरकार पर हमला किया है । प्रियंका ने लिखा, केंद्र सरकार ने देश को अंधेरे में क्यों रखा?

गौरतलब है कि राहुल गांधी ने गुरुवार को आरोप लगाया था कि हमारे सैनिक खाली हाथ बॉर्डर पर गए थे, इसलिए चीन ने धोखे से उन्हें मार दिया । हालांकि, विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने जवाब में कहा था कि सैनिकों के पास हमेशा हथियार होते हैं और उस दिन भी थे । विदेश मंत्री ने कहा था कि समझौते के तहत भारतीय सैनिक गोली नहीं चला सकते थे ।

वहीं, आज हुई सर्वदलीय बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राजनीतिक दलों को आश्वस्त किया कि हमारी सेनाएं, सीमाओं की रक्षा करने में पूरी तरह सक्षम हैं । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक के बाद कहा कि न तो वहां कोई हमारी सीमा में घुसा हुआ है और न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है ।

पीएम मोदी ने कहा कि लद्दाख में हमारे 20 जांबाज शहीद हुए, लेकिन जिन्होंने भारत माता की तरफ आंख उठाकर देखा था, उन्हें वो सबक सिखाकर गए ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!