स्वच्छता का हाल : ग्रामीण जागरूक हुए तो अधिकारियों के लिए बोझ बन गया स्वच्छता

संजय केसरी (संवाददाता)

– पहले भी जनपद न्यूज Live उठा चुका है सामुदायिक शौचालय का मुद्दा

– विधायक के बातों को भी कर दिया अनसुना

डाला । जिलाधिकारी ने कड़ाई से स्वच्छता की बैठक ली तो कई ब्लाकों की परत दर परत पोल खुलने लगी । इसी कड़ी में म्योरपुर के जरहां में पिछले तीन वर्षों से चली आ रही विवाद भी खत्म हो गया और पूर्व जरहां सचिव सहित वर्तमान प्रधान पर गबन का आरोप सिद्ध होते ही एफआईआर तक हो गया । ऐसा नहीं कि शौचालय में गड़बड़ी सिर्फ एक ही ब्लाक में हुई । जिलाधिकारी के सख्त तेवर के बाद लगभग सभी ब्लाकों में अधूरे काम तेजी से हो रहे हैं । लेकिन चोपन ब्लाक के बिल्ली मारकुंडी के टोला बाड़ी में पिछड़ा क्षेत्र आयोग अनुदान निधि से वर्ष 2015 में बना सामुदायिक शौचालय शोपीस की तरह खड़ा है ।
जानकारी के मुताबिक 8 सितंबर 2015 को चोपन ब्लाक के ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के नेतृत्व उक्त सामुदायिक शौचालय का निर्माण इस उद्देश्य से बनावाया गया था कि आसपास के लोगों को शौच के लिए बाहर न जाना पड़े । लेकिन बनने के कुछ दिनों बाद ही सफाई का हवाला देते हुए सामुदायिक शौचालय में ताला बंद कर दिया गया । ज़ब तालाबंदी की जानकारी जनपद न्यूज Live ni को हुई तो इसे प्रमुखता से उठाया और इसकी खबर प्रकाशित की । खबर प्रकाशित होने के बाद सामुदायिक शौचालय में लगे ताले को खोल दिया गया । जिसके बाद स्थानीय लोगों को इसका लाभ भी मिलने लगा । मगर यह सुविधा के अभाव में यह शौचालय ज्यादा दिन नहीं चल सका । गंदगी से भरे इस सामुदायिक शौचालय में अब कोई नहीं जाता । लिहाजा यह अब मात्र शोपीस बन कर रह गया है ।
स्वच्छता के प्रति ग्रामीणों की रुचि का नतीजा रहा कि गत 28 मई को ग्रामीणों ने इसे शुरू कराने के लिए क्षेत्रीय विधायक संजीव गोड़ से गुहार लगाई । जिसके बाद विधायक ने तत्कालीन डीपीआरओ को इसे जल्द से जल्द चालू कराने को कहा, परन्तु लगभग 20 दिन बीत जाने के बाद भी सामुदायिक शौचालय शो पीस की तरह खड़ा है।

इस सम्बंध में ग्राम विकास अधिकारी सुनील पाल से फोन पर सम्पर्क किया गया परन्तु उनका फोन नहीं उठा।

एक समय था जब स्वच्छता को लेकर जनपद में निगरानी समिति बनाकर लोगों को जागरूक करने का काम किया जाता था और फिर शौचालय का निर्माण होता था । मगर अब जब ग्रामीण जागरूक हैं तो अधिकारी उनके बातों को अनदेखी कर दे रहे हैं, जो कत्तई ठीक नहीं ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!