अब घर-घर पहुंचेगा पोषाहार, वितरण रोस्टर जारी

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिले के आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से आगामी 16 जून से 26 जून तक रोस्टर वार डोर-टू-डोर पोषाहार का वितरण किया जाएगा। कोरोना वायरस के संक्रमण के दृष्टिगत बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के लाभार्थियों की इम्यूनिटी बनाए रखने की दृष्टि से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए पोषाहार का वितरण किया जाएगा साथ ही पारदर्शिता रखते हुए आंगनबाड़ी केंद्रों के लाभार्थियों को डोर-टू-डोर वितरण कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत कुमार सिंह ने बताया कि “जिलाधिकारी के निर्देश पर जनपद के कुल 2079 आंगनबाडी केन्द्रों पर रोस्टर के अनुसार बाल विकास परियोजना शहर, घोरावल, चतरा, नगवाँ एवं बभनी परियोजनाओं के समस्त आंगनबाडी केन्द्रों पर 16, 17, 18, 19 और 20 जून-20 को वितरण किया जायेगा तथा बाल विकास परियोजना राबर्ट्सगंज, चोपन, दुद्धी एवं म्योरपुर परियोजना के समस्त आंगनबाडी केन्द्रों पर 22, 23, 24, 25 एवं 28 जून-20 को वितरित किया जायेगा। जनपद में 06 माह से 03 वर्ष के बच्चे, 03 से 08 वर्ष के बच्चे एवं गर्भवती/धात्री महिलाओं को निर्धारित तिथि को आँगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर सोशल डिसटेसिंग का पालन करते हुये अनुपूरक पोषाहार दिया जायेगा। वितरण का कार्य ग्राम प्रधान/सभासद एवं पंचायत के अन्य सदस्यों के उपस्थित में होगा। पोषाहार वितरण का प्रर्यवेक्षण क्षेत्रीय मुख्य सेविका, बाल विकास परियोजना अधिकारी द्वारा किया जायेगा। सभी केन्द्रों पर 06 माह से 03 वर्ष के बच्चे 100024, 03 से 06 वर्ष के बच्चे 53934 एवं गर्भवती/धात्री 50183 इस प्रकार कुल 212141 लाभार्थियों को पोषाहार का वितरण निर्धारित तिथि को डोर-टू-डोर जाकर आँगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा किया जायेगा साथ ही कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण जनपद में आये प्रवासी लाभार्थियों को भी दिया जायेगा। जनपद में प्रवासी लाभार्थियों में 06 माह से 00 वर्ष के कुल 219 बच्चे तथा गर्भवती/धात्री 18 महिलायें जनपद सोनभद्र में आये है। इस प्रकार कुल 367 प्रवासी लाभार्थियों को आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा पंजीकृत कर लिया गया है। अनुपूरक पोषाहार के अतिरिक्त प्रवासी लाभार्थियों को अन्य विभागीय योजनाओं से लाभान्वित किया जायेगा। वहीं आज जनपद के बाल विकास परियोजना बभनी, घोरावल, नगवाँ, चतरा एवं शहर के कार्यकत्रियों द्वारा 06 माह से 03 वर्ष 18205 बच्चों को, 03 से 06 वर्ष 10488 एवं 7635 गर्भवत्री/धात्री माताओं को डोर-टू-डोर सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए सुरक्षित ढंग से पोषाहार उपलब्ध कराया गया।”


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!