पीएम मोदी के साथ देश के 21 मुख्यमंत्रियों की बैठक आज, कई महत्वपूर्ण विन्दुओं पर होगी चर्चा

देश में कोरोना वायरस की बढ़ती रफ्तार के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार और बुधवार को देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से क्रमश: चर्चा करेंगे। दोपहर तीन बजे से ये बातचीत शुरू होगी, जिसमें आज कुल 21 राज्यों के मुख्यमंत्री हिस्सा लेंगे । इस दौरान कई राज्यों की मांग है कि लॉकडाउन में और ढील दी जाए और टेस्टिंग की दर बढ़ाई जाए ।

इस बातचीत से पहले कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि हम पीएम से कल लॉकडाउन में और ढील देने की मांग करेंगे । उन्होंने कहा कि लॉकडाउन को बढ़ाने का कोई प्लान नहीं है, यहां तक की वीकेंड में भी लॉकडाउन नहीं लागू किया जाएगा ।

बहरहाल, सरकार के सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्रियों के साथ होने वाली बैठकों में मुख्य फोकस उन जिलों को लेकर होगा, जहां कोरोना का ज्याद असर है । प्रधानमंत्री ने शनिवार को जिला स्तर तक बेड की उपलब्धता और चिकित्सा बुनियादी ढांचे की समीक्षा की थी । जिन राज्यों में केस ज्यादा आ रहे हैं वहां चिकित्सा व्यवस्था दुरुस्त करने पर जोर दिया जाएगा ।

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी भी सोशल डिस्टेंसिंग औऱ कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किए जाने पर जोर देते रहे हैं । माना जा रहा है कि मुख्यमंत्रियों की बैठक के दौरान टेस्टिंग किट और प्रवासी मजदूरों की समस्या पर चर्चा की जा सकती है । इस दौरान रोजगार और आर्थिक मसलों पर भी चर्चा की जाएगी ।

दूसरी बात, प्रधानमंत्री मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की बैठक का मुख्य फोकस अर्थव्यवस्था और स्वास्थ्य होना है । कोरोना के मामले जिस तरीके से बढ़ रहे हैं वो केंद्र और राज्य सरकारों के लिए चिंता का विषय बने हुए हैं ।मीटिंग के दौरान राज्यों को अपनी बात करने का मौका मिलेगा । इस दौरान राज्य मौजूदा हालत से निकले की रूप रेखा पेश कर सकते हैं । माना जा रहा है कि कांग्रेस शासित राज्य अपनी पुरानी मांगें दोहरा सकते हैं ।

वहीं दिल्ली सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ हुई बैठक में अपना फार्मूला बता दिया था जिसमें कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाने सहित कई उपाय सुझाए गए थे ।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल के साथ रविवार को उच्च स्तरीय बैठक के बाद अमित शाह ने केंद्र सरकार के प्लान की जानकारी दी। शाह की तरफ से बताया गया कि दिल्ली में दो दिन के अंदर कोरोना की टेस्टिंग डबल कर दी जाएगी, जबकि 6 दिन में यह दर तीन गुना हो जाएगी । वहीं दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने बेड बढ़ाने और नर्सिंग होम को कोरोना मरीजों के लिए इस्तेमाल करने का फैसला किया है ।

बता दें कि आज 16 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐसे राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे, जहां कोरोना की रफ्तार धीमी है या जहां कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट काफी अच्छी है । इन राज्यों में पंजाब, असम, केरल, उत्तराखंड, कर्नाटक और झारखंड जैसे कई राज्य शामिल हैं ।

17 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे, जिन राज्यों में कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार काफी ज्यादा है । 17 जून को पीएम नरेंद्र मोदी महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, गुजरात और राजस्थान समेत अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बात करेंगे ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!